Forgot your password?

Enter the email address for your account and we'll send you a verification to reset your password.

Your email address
Your new password
Cancel
बॉलीवुड का सबसे हॉट कपल अब शादी के बंधन में बंधने को तैयार है... जी हां, हम बात कर रहे हैं रणवीर सिंह और दीपिका पादुकोण की। जिन्होने सोशल मीडिया पर शादी का कार्ड शेयर कर फैंस से ये खुशखबरी शेयर की है। ऐसे में बी-टाउन के सबसे बड़े इवेंट को लेकर खबरों का बाजार भी गर्म हो चला है और हो भी क्यो ना... क्योंकि ये तो वो घड़ी है जिसका सभी को बेसब्री से इंतजार था... जब जमीं पर दो सितारों के मिलन होगा।
वैसे दीपिका और रणवीर का रिलेशनशिप जितना दिलचस्प रहा है और उतना ही रोचक इन दोनो का बॉलीवुड सफर भी रहा है। एक तरफ जहां दीपिका ने मॉडलिगं और एड के जरिए इंडस्ट्री में कदम रखा है, वहीं रणवीर सिंह के बॉलीवुड का सफर भी आसान नही रहा है, बल्कि उन्होने तो थियेटर और ऐड एजेंसी से लेकर इंडस्ट्री का सफर तय किया है। तो चलिए जानते हैं कैसे ऐड एजेंसी में काम करने वाला लड़का बॉलीवुड का बाजीराव बन बैठा।
दरअसल रणवीर सिंह फिल्मों में अपना करियर बनाने से पहले अमेरिका में मास कम्यूनिकेशन की पढ़ाई करने गए थे। उस वक्त उनके इच्छा थी कि वो कंटेंट राइटर बने पर वहां पहली ही क्लास में उन्होंने फिल्म 'दीवार' का एक डायलॉग बोला था जिसकी काफी तारीफ हुई थी। ऐसे में अपनी पहली क्लास में एक्टिंग के लिए मिली तारीफों से रणवीर सिंह का मन बदला और उन्होंने हीरो बनने की ठान ली।
ऐसे में जब वो अमेरिका से भारत लौटे तो ग्लैमर इंडस्ट्री में काम तलाशना शुरू किया लेकिन उन्हें बॉलीवुड में डेब्यू के लिए 3 सालों तक स्ट्रगल करना पड़ा। इन स्ट्रगल के दिनों में रणवीर ने एक एड एजेंसी में बतौर असिस्टेंट डायरेक्टर भी काम किया पर चूकि वो करना तो एक्टिंग चाहते थे, ऐसे में उन्होने फिर थिएटर ज्वाइन किया पर शुरूवात में यहां भी उन्हें बैक स्टेज का ही काम मिला। इस दौरान रणवीर को आर्टिस्ट्स के लिए चाय लाना, सीट लगाना, रिहर्सल करवाने जैसे छोटे-छोटे काम करने पड़ते थे।
हालांकि थिएटर करने के साथ ही रणवीर ने फिल्म इंडस्ट्री में भी काम की तलाश जारी रखी, पर काम मिलने के लिए उन्हे काफी पापड़ बेलने पड़े, यहां तक कि उन्हे फिल्म मेकर्स के नम्बर भी चुराए। दरअसल रणवीर ने एक इंटरव्यू में अपने स्ट्रगल के बारे में बताते हुए ये खुलासा किया था कि शुरूवात में उनके पोर्टफोलियो को डायरेक्टर-प्रोड्यूसर कचरे के डिब्बे में डाल देते थे। लेकिन फिर काम की तलाश में रणवीर फिल्ममेकर्स के पीछे लगे रहते थे और कई बार तो दूसरों के फोन से डायरेक्टर-प्रोड्यूसर के नंबर भी चुराए। कई सार फिल्ममेकर्स नंबर पर वे रोजाना काम मांगने के लिए मैसेज डालते थे।
इस तरह लगातार फिल्ममेकर्स को सम्पर्क करने के लगभग 8-10 महीने के बाद एक दिन यशराज फिल्म्स से कॉल आई और उन्हें ऑडिशन के लिए बुलाया गया। दरअसल उस वक्त यशराज फिल्म्स को 'बैंड बाजा बारात' के लिए एक नए लड़के की तलाश में थी... और ये तलाश पूरी हुई रणवीर सिंह के रूप में।
ऑडिशन देने के बाद ये फिल्म रणवीर को मिल गई पर उन्हें यकीन नहीं हो रहा था क्योंकि इस फिल्म में उनके अपोजिट अनुष्का शर्मा थीं जो कि पहले से स्टार बन चुकीं थी।एक इंटरव्यू में रणवीर ने बताया था, कि जब उन्हे पता चला कि आदित्य उन्हें बैंड बाजा बारात में कास्ट कर रहे हैं, तो वे जमीन पर बैठकर रो पड़े थे।
वैसे रणवीर सिंह की ये पहली फिल्म हिट साबित हुई और इसके साथ ही उनके करियर की गाड़ी चल पड़ी । आज रणवीर की गिनती फिल्म इंडस्ट्री के टॉप हीरोज में होती है।
ऐसी रोचक और अनोखी न्यूज़ स्टोरीज़ के लिए गूगल स्टोर से डाउनलोड करें Lopscoop एप, वो भी फ़्री में और कमाएं ढेरों कैश वो भी आसानी से
Author: Yashodhara Virodai
YOUR REACTION
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0

Add you Response

  • Please add your comment.