Forgot your password?

Enter the email address for your account and we'll send you a verification to reset your password.

Your email address
Your new password
Cancel
कहते हैं बेहतर रिश्ते की शुरूवात अभिवादन के साथ होती है... अगर आप किसी अंजान शख्स को भी हर रोज हेलो या नमस्ते बोलते हैं तो इसके साथ ही आपके बीच एक अनकहे रिश्ते की शुरूवात हो जाती है। यहां तक कि इसी ‘हेलो’ के दम पर एक शख्स ने दो दुश्मन देशों के बीच दोस्ती की नींव डाल दी थी।
दरअसल, 45 साल पहले ओरिजिना स्टेट यूनिवर्सिटी के पीएचडी ग्रेजुएट ब्रायन मैक कोरमैन ने ‘वर्ल्ड हेलो डे’ की नींव रखी थी, जिसके बाद अब 180 से अधिक देशों में 21 नवम्बर के दिन ‘हेलो डे’ मनाया जाता है। चलिए आपको इस किस्से के बारे में विस्तार से बताते हैं।
दरअसल 1973 में अक्टूबर के आखिरी दिनों में इजरायल और सऊदी अरब के बीच भीषण युद्ध शुरू हुआ था, 19 दिन तक चले इस (किप्पुर युद्ध) में इजरायल की जीत हुई। हालांकि इसके बाद दोनों देशों में तनाव काफी बढ़ गया... ऐसे में ब्रयान ने वहां जाकर लोगों को हैलो डे मनाने के लिए जागरूक किया ताकी वे आपसी नफरत को भूल प्यार से गले मिले ले और आखिर में हुआ भी ऐसा ही दोनो देशों के लोगों के बीच तनाव खत्म हुआ और वे फिर से आपस में मिलकर रहना शुरू कर दिए।
इसके बाद ब्रायन ने पूरी दुनिया के नेताओं को हैलो डे मनाने के लिए को पत्र लिखकर प्रेरित किया। इसके लिए उन्होंने सात अलग-अलग भाषाओं में 1360 पत्र लिखकर हैलो डे मनाने के लिए सहयोग मांगी। जिसका परिणाम भी सकारात्मक मिला और 15 देश के लोगों ने पहले ही साल इस दिन को मनाया । बाद में हर साल धीरे-धीरे इस दिन को मनाने वालो की संख्या बढ़ती चली गई।
आज 45 साल बाद दुनिया के पूरे 180 देशों में ये दिन धूमधाम से मनाया जाता है। वहीं तकरीबन 31 शांति पुरस्कार विजेताओं ने इसे मनाने के लिए समर्थन जताया है। इस तरह हर साल 21 नवम्बर के दिन ‘वर्ल्ड हेलो डे’ लोग इसलिए मनाते है कि आपसी भेद-भाव और मनमुटाव कम हो और लोग खुशहाल जीवन जी सकें।
ऐसी रोचक और अनोखी न्यूज़ स्टोरीज़ के लिए गूगल स्टोर से डाउनलोड करें Lopscoop एप, वो भी फ़्री में और कमाएं ढेरों कैश वो भी आसानी से
Author: Yashodhara Virodai
YOUR REACTION
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0

Add you Response

  • Please add your comment.