Forgot your password?

Enter the email address for your account and we'll send you a verification to reset your password.

Your email address
Your new password
Cancel
एड्स... ये शब्द सुनते ही लोगों के कान खड़ें हो जाते हैं, खासकर हमारे देश में तो इस बीमारी का नाम लेना भी पाप के समान है... इस पर बात करना तो दूर की बात है। ऐसे में बहुत से लोग इसके बारे कई सार भ्रम पाल कर बैठ जाते हैं, जबकि कोई भी रोग तब और घातक बन जाता है जब आपको उसके बारे में सही जानकारी नहीं होती। यही होता है हमारे यहां एड्स के मामलों में, यहां अभी भी ज्यादातर लोगों में इसके बारे में कई सारी गलत धारणाएं फैली हुई हैं। ऐसे में हमारी कोशिश है कि आप सब तक HIV एड्स के बारे में कुछ खास और जरूरी बातें पहुंचा सकें, तो चलिए जानते हैं एड्स से जुड़े कुछ अहम तथ्यों के बारे में।
बीमारी नहीं बीमारियों का घर है
सबसे पहले तो आप ये जानिए एड्स अपने आप में कोई बीमारी नही है बल्कि इससे पीड़ित व्यक्ति एच.आई.वी वायरस के कारण अपनी प्राकृतिक रोग प्रतिरोधी शक्ति खो बैठता है। जिससे उसे संक्रामक बीमारियां जैसे आम सर्दी जुकाम से लेकर कैंसर जैसे घातक रोग सहजता से हो जाते हैं और इन्ही बीमारियों के कारण उसकी जान भी जाती है।
सालों लग जाते हैं लक्षण दिखने में
दूसरी सबसे महत्वपूर्ण बात ये है कि इसके लक्षण दिखने और समझने में लगभग 8 से 10 साल और कभी-कभी 20 साल तक भी लग जाते हैं। जाहिर सी बात है कि तब तक ये रोग घातक अवस्था मे पहुंच चुका होता है और फिर इसका इलाज करना कठिन हो जाता है।
सेक्स के अलावा इससे भी हो सकता है
आमतौर पर ये माना जाता है कि संक्रमित व्यक्ति के साथ असुरक्षित यौन सम्बंधों के जरिए ये बीमारी फैलती है, लेकिन इसके अलावा भी बहुत सारी बाते हैं, जिसके प्रति आपको सतर्क रहना चाहिए। जैसे कि किस, लिपलॉक और ओरल सेक्स से भी इसके संक्रमण का खतरा होता है। यहां तक कि पीड़ित का झूठा खाने से ये आपको इसके संक्रमण का खतरा होता है।
सुरक्षा ही बचाव है
जी हां, इस घातक रोग से बचने के लिए आपके पास एकमात्र उपाय है... सुरक्षा। इसलिए असुरक्षित सेक्स के साथ-साथ, इंजेक्शन लगवाने से लेकर नाई के पास बाल कटाते समय खास ध्यान रखें कि कोई भी संक्रमित चीज के सम्पर्क में आप ना आएं।
ऐसी रोचक और अनोखी न्यूज़ स्टोरीज़ के लिए गूगल स्टोर से डाउनलोड करें Lopscoop एप, वो भी फ़्री में और कमाएं ढेरों कैश वो भी आसानी से
Author: Yashodhara Virodai
YOUR REACTION
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0
  • 1
  • 0

Add you Response

  • Please add your comment.