Forgot your password?

Enter the email address for your account and we'll send you a verification to reset your password.

Your email address
Your new password
Cancel
पर्दे पर तो हीरो-हिरोइन का रोमांस और ड्रामा, दर्शकों के लिए खासा रोमांच पैदा करता है, लेकिन असल जिंदगी में जब कलाकारों के साथ ऐसा कुछ हो तो फिर उसका नतीजा बेहद निराशाजनक रहता है। आज ऐसी ही एक बॉलीवुड एक्ट्रेस अपना जन्मदिन होता है, जिन्होने निजी जिंदगी में भी बहुत सारे उतार चढ़ाव देखें हैं... जी हां, हम बात कर रहे हैं हम बात कर रहे सोनाली बेंद्रे की, जो फिलहाल कैंसर से जिंदगी का जंग लड़ रही है। सोनाली के जन्मदिन के मौके पर हम उनके जीवन के एक खास किस्से से रूबरू करा रहे हैं।
सोनाली ब्रेंद्रे का जन्म 1 जनवरी 1975 में मुम्बई में हुआ था, उन्होने मॉडलिंग के जरिए अपने करियर की शुरूआत की और फिर फिल्म इंडस्ट्री में अपनी जगह बनाई। करियर के शुरूआती दिनों में सोनाली की खूबसूरती और अदाकारी का यूं जलवा था कि उनके लिए लाखों दिल धड़कते थें, वहीं उस समय में एक फेमस पॉलिटिशियन भी सोनाली के प्यार गिरफ्त हुए थे और वो थे... मनस प्रमुख राज ठाकरे।
जी हां, 90 के दशक में सोनाली और राज ठाकरे के अफेयर के किस्से काफी सुर्खियों में रहे थें। मीडिया रिपोर्ट्स की माने एक समय था जब राज ठाकरे और सोनाली बेंद्रे एक दूसरे के बेहद करीब थें। पर फिर परिस्थितियां यूं बनी कि इनकी प्रेमकहानी अधूरी रह गयी।
असल में बताया जाता है कि जब राज ठाकरे सोनाली बेंद्रे के प्यार में गिरफ्त हुए तो उस वक़्त शादी शुदा थे। हालांकि फिर भी राज और सोनाली शादी करना चाहते थे लेकिन इस लवस्टोरी में विलेन बने राज के ताऊ बाल ठाकरे। बताय़ा जाता है कि उन्होंने राज ठाकरे को ये कहकर इस शादी से रोक लिया कि अगर ऐसा हुआ तो उनकी पार्टी शिवसेना की छवि खराब हो सकती है, जो कि पार्टी के साथ ही राज के भविष्य के लिए अच्छा नहीं रहेगा।
चूंकी राज उस वक़्त शिवसेना में ही थे और उन्हें लगता था कि बाला साहेब के बाद वो ही पार्टी के अगले उत्तराधिकारी होंगे, ऐसे में उन्होंने बाल ठाकरे की बात मान ली और सत्ता के लिए अपने प्यार की कुर्बानी दे दी। वैसे खबरों की माने तो इस सबके बावजदू सोनाली और राज दोनों लंबे समय तक रिलेशनशिप में रहें । हालांकि जिस कुर्सी के लिए राज ठाकरे ने अपने प्यार की कुबानी दी वो कुर्सी भी नहीं मिली। बाद में बाल ठाकरे ने राज के बजाय अपने बेटे उद्धव को शिवसेना की जिम्मेदारी दी । ऐसे में नाराज होकर राज ठाकरे ने बाद में अपनी अलग पार्टी मनसे ( महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना) बनाई।
वैसे आज सोनाली ब्रेंद्रे अपने पति गोल्डी बहल के साथ अच्छी शादीशुदा जिंदगी बिता रही हैं। सोनाली के बीमारी के वक्त गोल्डी हर वक्त उनके साथ खड़े रहे हैं।
Author: Yashodhara Virodai
YOUR REACTION
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0

Add you Response

  • Please add your comment.