Forgot your password?

Enter the email address for your account and we'll send you a verification to reset your password.

Your email address
Your new password
Cancel
बॉलीवुड के लिए नए साल 2019 की शुरूआत ही बेहद दुखद खबर के साथ हुई है, साल शुरू होने से पहले ही सिनेमा जगत ने अपना एक अनमोल सितारा खो दिया है। जी हां, हिंदी सिनेमा के दिग्गज अभिनेता कादर खान 81 साल की उम्र में इस दुनिया को अलविदा कह चुके हैं। दरअसल, बीते शाम यानी 31 दिसम्बर को ही उनका निधन हो गया, इस खबर की पुष्टि उनके बेटे सरफराज खान ने की है।
दिवंगत अभिनेता कादर खान काफी लंबे समय से सांस की समस्या से जूझ रहे थे, इसी के चलते वे पिछले 16-17 हफ्तों से कनाडा के अस्पताल में भर्ती थें। हालांकि बीतो दिनो उन्हें डॉक्टर्स ने रेगुलर वेंटीलेटर से हटाकर BiPAP वेंटिलेटर पर रखा था, जहां तबीयत में सुधार आने पर उन्होंने शक्ति कपूर से आखिरी बातचीत में कहा था कि वो बॉलीवुड में वापसी करेंगे, पर अफसोस अब ये कभी संभव नहीं हो पाएगा। मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो कादर खान का अंतिम संस्कार कनाडा में ही किया जाएगा।
गौरतलब है कि कादर खान ने सत्तर के दशक के जानमाने अभिनेता और स्क्रीन राइटर रहे हैं, जहां उन्होने तकरीबन 300 से अधिक फिल्मों में काम किया, वहीं लगभग 200 फिल्मों के लिए लेखन काम भी किया है। उन्होने मनमोहन देसाई के साथ मिलकर 'सुहाग', ‘अमर अकबर एंथनी’, ‘गंगा जमुना सरस्वती, ‘कुली’, ‘धर्म वीर’ और देश प्रेमी जैसी फिल्में लिखी, वहीं ‘कुली नंबर 1’, ‘ मैं खिलाड़ी तू अनाड़ी’, ‘कर्मा’, ‘सल्तनत’ जैसी फिल्मों के संवाद भी उन्होने लिखे हैं।
ऐसे में कादर खान मौत से पूरे सिनेमा जगत में शोक की लहर सी छा गई है, अमिताभ बच्चन ने कादर खान के निधन पर शोक जताते हुए इसे हिंदी सिनेमा की बड़ी क्षति करार दिया।
Author: Yashodhara virodai
YOUR REACTION
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0

Add you Response

  • Please add your comment.