Forgot your password?

Enter the email address for your account and we'll send you a verification to reset your password.

Your email address
Your new password
Cancel
Buddha विश्व प्रसिद्ध धर्म सुधारक और दर्शिनिक माने जाते हैं। इन्होंने भारत में बौद्ध धर्म की स्थापना की और फिर इसके बाद ये भगवान बुद्ध कहलाए। आपको बता दें कि ईसा पूर्व 6वीं शताब्दी में महात्मा बुद्ध द्वारा स्थापित किया गया बौद्ध धर्म भारत की सुप्रसिद्ध श्रमण परम्परा से निकला एक बेहतरीन, सारगर्भित और यौगिक धर्म एवं एक महान दर्शन है। बुद्ध 663 ईसा पूर्व नेपाल के लुंबनी में जन्में थे और इनका परिनिर्वाण भारत के कुशीनगर में 483 ईसा पूर्व हुआ था। ग़ौरतलब है कि महात्मा बुद्ध के महापरिनिर्वाण के अगली पाँच शताब्दियों में बौद्ध धर्म पूरे भारतीय उप महाद्वीप में फैल गया।
भारतीय उप महाद्वीप में बौद्ध धर्म के विस्तार के साथ फिर अगले 2000 वर्षों के बाद यह मध्य, पूर्वी और दक्षिण-पूर्वी जम्बू द्वीप में भी फैल गया। इसी के साथ इन सभी जगहों में फैल गयी बुद्ध की बतायी तमाम बातें। आइए आज आपको बुद्धि की ऐसी ही कुछ अनोखी बातें बताते हैं, जो मन को शान्ति और सुकून देती हैं।
पहला विचारः
क्रोध करना जलते हुये कोयले को किसी दूसरे व्यक्ति पर फेंकने की इच्छा से पकड़े रहने के समान है। यह सबसे पहले आपको ही जलाता है।
दूसरा विचारः
भूतकाल में मत उलझो, भविष्य के सपनों में मत खो जाओ। वर्तमान पर ध्यान दो। यही ख़ुश रहने का एक मात्र रास्ता है।
तीसरा विचारः
तुम्हें अपने क्रोध के लिए सज़ा नहीं मिलती है, बल्कि तुम्हें अपने क्रोध से ही सज़ा मिलती है।
चौथा विचारः
हर लड़ाई लड़ने से बेहतर है कि तुम ख़ुद पर विजय प्राप्त कर लो, फिर हर विजय तुम्हारी ही है। इस विजय को तुमसे कोई नहीं छीन सकता है, न स्वर्ग-दूत और न ही कोई राक्षस।
पाँचवा विचारः
एक जलते हुए दीपक या मोमबत्ती से हज़ारों दीपक रोशन किये जा सकते हैं, फिर भी उस दीपक की लौ कम नहीं होती। उसी तरह ख़ुशियाँ बाँटने से बढ़ती हैं कम नहीं होती हैं।
Author: Amit Rajpoot
Design Credit: Vikas Kakkar
ऐसी रोचक और अनोखी न्यूज़ स्टोरीज़ के लिए गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड करें Lop Scoop App, वो भी फ़्री में और कमाएँ ढेरों कैश आसानी से!
YOUR REACTION
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0

Add you Response

  • Please add your comment.