Forgot your password?

Enter the email address for your account and we'll send you a verification to reset your password.

Your email address
Your new password
Cancel
आज हमारे देश और समाज का ऐसा माहौल बना हुआ है, कि देश की पूरी जनता ख़ासकर वंचितों और ज़रूरतमंदों की निगाहें महज सरकार की ओर ही टिकी रहती है। वहीं इसके बरअक्स सरकारें हर क़दम पर ऐसे लोगों के तन में सनी उपेक्षा की धूल को झाड़ने की बजाय उन्हें क़ायदों और प्रशासनिक मकड़झालों में उलझाकर और भी हताशा और निराशा से भर देते हैं। जी हाँ, यही वह संक्रमण का स्तर या कहें कि दौर होता है जब हमारे समाज से कोई व्यक्ति ख़ासकर युवा या युवतियाँ आगे आकार इन असेवित और तिरस्कृत लोगों की सुध लेते हैं और बन जाते हैं ख़ाली आसमान को निहारते इन लोगों की आशाएँ।
तो चलिए, आज हम आपको ऐसे ही एक ग़ैर सरकारी संगठन के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसे 20 जनवरी, 2018 को 24 वर्षीय युवती नेहा सिंह ने अपनी माँ सुधा सिंह और दो दोस्तों रिचा सिंह और शिवानी पाण्डेय के साथ मिलकर नोएडा के मोरना गाँव में शुरु किया था।
यह संगठन विशेष रूप से बच्चों की शिक्षा और महिलाओं के सशक्तिकरण पर काम करता है। इसके लिए संगठन के स्वयंसेवक बस्तियाँ-बस्तियाँ जाकर ज़रूरतमंदों को तलाशते हैं और उन्हें मुख्य धारा में लाने के लिए बच्चों की आवश्यकताओं को पूरा करने का हर संभव प्रयास करते हैं। दिलचस्प है कि यह संगठन बच्चों में रचनात्मकता पैदा करने के लिए कई तरह की गतिविधियाँ भी करता है।
इनमें डांस क्लासेस, पेण्टिंग्स की वर्कशॉप्स, मोटीवेशनल लेक्टर्स, स्पोर्ट्स इवेंट, हाईजीन अवेयरनेस, पिकनिक एवं टूर और विभिन्न प्रतियागिताएँ जैसे रोचक कार्यक्रम शामिल किये जाते हैं।
वहीं महिलाओं को सशक्त और स्वावलंबी बनाने के लिए उनसे घर जा-जाकर संवाद क़ायम कर उन्हें कई मसलों पर प्रोत्साहित करने के प्रयास के जा रहे हैं। दिलचस्प है कि बीती 20 जनवरी को इस एनजीओ ‘आशाएँ... आशा की एक किरण’ ने अपने एक साल पूरे कर लिये हैं और महज एक साल के भीतर ही 40 से ज़्यादा बच्चों को पढ़ाने और बढ़ाने का ज़िम्मा अपने कंधों पर लेकर आगे बढ़ते जा रहे हैं। वास्तव में समाज को ऐसे गैर सरकारी संगठनों की बहुत ज़रूरत है, जो समाज में नई चेतना पैदा करने का काम करते हैं।
अगर आपकी भी हैं ऐसी ही नेक 'आशाएँ...' और देना चाहते हैं किसी तरह का दान यथा- ज्ञान, श्रमदान, अर्थदान या फिर कोई सुझाव तो,के लिए आप इस एनजीओ को Facebook page पर सम्पर्क कर सकते हैं या फिर आप सीधे मोबाइल नम्बर- 7701865412 पर कॉल कर सकते हैं।
इसके अलावा आप इस एनजीओ आशाएँ की Website पर भी इन्हें सम्पर्क कर सकते हैं।
Author: Amit Rajpoot
ऐसी रोचक और अनोखी न्यूज़ स्टोरीज़ के लिए गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड करें Lop Scoop App, वो भी फ़्री में और कमाएँ ढेरों कैश आसानी से!
YOUR REACTION
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0

Add you Response

  • Please add your comment.