Forgot your password?

Enter the email address for your account and we'll send you a verification to reset your password.

Your email address
Your new password
Cancel
इश्क की खुमारी हो या दिल का दर्द जब बात जज्बातों को बयां करने की हो तो जगजीत सिंह की गजलों से बेहतर जरिया क्या बन सकता है। हम सबने कभी नी कभी जगजीत सिंह की गज़लों को गुनगुनाया है और उन गज़लों के जरिए आज भी जगजीत सिंह हम सबके जेहन में जिंदा है। आज जगजीत सिंह के जन्मदिवस के मौके पर हम आपके लिए उनकी ऐसे ही कुछ सदाबहार गजलें लेकर आए हैं।
तुमको देखा तो ये ख्याल आया
1982 में आई फिल्म साथ-साथ का ये गीत आज भी लोगों के जुबान पर रहता है, जगजीत सिंह की बेहतरीन आवाज में ये गजल प्यार करने वाले के लिए किसी सौगात से कम नही हैं।
<iframe width="100%" height="250" src="https://www.youtube.com/embed/prtrsIG7564" frameborder="0" allow="accelerometer; autoplay; encrypted-media; gyroscope; picture-in-picture" allowfullscreen></iframe>
झुकी झुकी सी नजर
अर्थ फिल्म के इस गाने में प्यार की कशिश बाखूबी बयां होती है। इस गाने के बोल जितने बेहतरीन हैं उतने ही खूबसूरती से इसे पेश किया है जगजीत जी ने।
<iframe width="100%" height="250" src="https://www.youtube.com/embed/-J0_ErhbwcI" frameborder="0" allow="accelerometer; autoplay; encrypted-media; gyroscope; picture-in-picture" allowfullscreen></iframe>
तुम इतना जो मुस्कुरा रहे हो
जब कोई अपना आपका दिल तोड़ दे तो दिल का हाल इस गाने से बेहतर और कौन बयां कर सकता है ।
<iframe width="100%" height="250" src="https://www.youtube.com/embed/GPYXvcLSee0" frameborder="0" allow="accelerometer; autoplay; encrypted-media; gyroscope; picture-in-picture" allowfullscreen></iframe>
होठों से छू लो तुम
प्यार की गहराई और प्रेमियों के दिल का हाल इस गाने में जिस तरह बयां किया गया है, शायद किसी और गाने में हो।
<iframe width="100%" height="250" src="https://www.youtube.com/embed/dDO9ZRSNB9s" frameborder="0" allow="accelerometer; autoplay; encrypted-media; gyroscope; picture-in-picture" allowfullscreen></iframe>
होश वालों को खबर
फिल्म सरफरोश की ये गज़ल भी अपने आप में नायाब है, जो प्यार की खुमारी और आशिको के दिल का हाल बयां करत है।
<iframe width="100%" height="250" src="https://www.youtube.com/embed/hZuwe72Rtcc" frameborder="0" allow="accelerometer; autoplay; encrypted-media; gyroscope; picture-in-picture" allowfullscreen></iframe>
किसका चेहरा अब मैं देखूं
जगजीत सिंह की आवाज में गाया हुआ फिल्म तरकीब का ये गीत तो बेहद लाजवाब है।
<iframe width="100%" height="250" src="https://www.youtube.com/embed/5wn6PDIw5w0" frameborder="0" allow="accelerometer; autoplay; encrypted-media; gyroscope; picture-in-picture" allowfullscreen></iframe>
चिट्ठी ना कोई संदेश
सिर्फ प्यार और खुशी ही नहीं गम और दिल के दर्द को भी जगजीत सिंह की गजलों ने बाखूबी बयां किया है। ऐसी ही एक गजल फिल्म दुश्मन में रखी गई थी, इस गजल को जगजीत सिंह ने अपनी दमदार आवाज से और भी हृदय स्पर्शी बना दिया था।
<iframe width="100%" height="250" src="https://www.youtube.com/embed/f7HrHRB2a-8" frameborder="0" allow="accelerometer; autoplay; encrypted-media; gyroscope; picture-in-picture" allowfullscreen></iframe>
बड़ी नाजुक
साल 2003 में आई फिल्म जॉगर्स पार्क का ये गजल भी प्यार के नाजुक एहसास को बयां करता है।
<iframe width="100%" height="250" src="https://www.youtube.com/embed/Hyz2JRFmp3U" frameborder="0" allow="accelerometer; autoplay; encrypted-media; gyroscope; picture-in-picture" allowfullscreen></iframe>
ऐसी रोचक और अनोखी न्यूज़ स्टोरीज़ के लिए गूगल स्टोर से डाउनलोड करें Lopscoop एप, वो भी फ़्री में और कमाएं ढेरों कैश वो भी आसानी से
Author: Yashodhara Virodai
YOUR REACTION
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0

Add you Response

  • Please add your comment.