Forgot your password?

Enter the email address for your account and we'll send you a verification to reset your password.

Your email address
Your new password
Cancel
महिलायें घर की रीढ़ होती है, इसलिए किसी भी सूरत में उनका शिथिल रहना ठीक नहीं होता है। घर के कुछ काम ऐसे होते हैं, जिन्हें उनको थोड़ा-थोड़ा करके ही सही लेकिन करने ज़रूर चाहिए। जी हाँ, जैसा कि आज महिलाओं ने समाज में अपनी एक अलग पहचान बना ली है। हर क्षेत्र में महिलाएं उच्च संस्थानों पर काबिज हैं और हमारे देश के सुनहरे भविष्य के निर्माण में योगदान दे रही हैं। लेकिन अभी भी छोटे शहरों और गांवों की अधिकांश महिलाएं घर की जिम्मेदारियां निभाने तक ही सीमित हैं। आप कह सकते हैं कि गांव की ये महिलाएँ आर्थिक रूप से एक सीमा तक अपने पति पर ही निर्भर रहती हैं, लेकिन सीमित पैसे में जिस तरह से ये घर संभालती है, वह सराहनीय है।
सबसे बड़ी बात यह है कि गांव की ये महिलाएँ अपने इन्हीं पैसों में से भी कुछ पैसे बचा लेती हैं, जो बुरे समय पर परिवार के काम आते हैं। आज के दौर में बेहद जरूरी है, कि महिलाएं आर्थिक रूप से आत्मनिर्भर, अनुशासित और स्वस्थ जीवन शैली जियें। इसके लिए जरूरी है कि वह अपनी दिनचर्या में कुछ होशियारियाँ शामिल कर लें। आइए आपको हम बताते हैं कि महिलाओं को अपने लिए किन 4 होशियारियों को अपनाकर चलना चाहिए।
1. बचत की आदत डालें:
एक ग्रहणी के लिए घर के कामकाज के अलावा परिवार की आमदनी और खर्चे का ध्यान रखना बहुत जरूरी है इसलिए हमेशा कुछ ऐसे अलग से पैसे सुरक्षित रखें, जो किन्हीं आकस्मिक परिस्थितियों या आपातकालीन परिस्थितियों में काम आते हैं। इसके लिए आप अलग बचत खाता खोल सकती हैं, जो गुल्लक की तरह आपके काम आ सकता है।
2. परिवार के साथ लें निर्णय:
परिवार के आर्थिक नियोजन में सभी सदस्यों का विचार ज़रूर लें। सबके सहयोग से आर्थिक नियोजन का काम बहुत आसान हो जाता है। इससे बचत एवं खर्च की जिम्मेदारी भी आपस में बंट जाती है और सभी इसमें बराबर की भागीदारी निभाते हैं।
3. खर्च के बदले निवेश:
आकस्मिक खर्चों के लिए अच्छी रकम रखने के बाद यदि पैसे बचते हों तो उसका सही निवेश करें। शुरू में छोटी अवधि के लिए निवेश करें- जैसे फिक्स डिपॉजिट, खाता खोलना या रिकरिंग डिपॉजिट खाता खोलना, लंबी अवधि के लक्ष्यों को पूरा करने के लिए आप सही बीमा योजनाओं में भी निवेश कर सकते हैं। आप पब्लिक प्रोविडेंट फंड में भी निवेश कर सकती हैं।
4. बीमा ज़रूर करायें:
चूँकि आप पूरे परिवार की जिम्मेदारी संभालती हैं, इसलिए खुद के लिए बीमा लेना भी आपकी जिम्मेदारी है। दिल की सेहत के लिए कई संपूर्ण बीमा योजनाएं हैं, जो आप और आपके पति ले सकते हैं। यदि आपके पति परिवार में अकेले कमाने वाले हैं, तो छोटी अवधि का प्लान लें जो बीमा लेने वाले व्यक्ति के परिवार को संपूर्ण सुरक्षा प्रदान करता है।
Author: Amit Rajpoot
ऐसी रोचक और अनोखी न्यूज़ स्टोरीज़ के लिए गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड करें LopScoop App, वो भी फ़्री में और कमाएँ ढेरों कैश आसानी से!
YOUR REACTION
  • 0
  • 0
  • 1
  • 0
  • 0
  • 0

Add you Response

  • Please add your comment.