Forgot your password?

Enter the email address for your account and we'll send you a verification to reset your password.

Your email address
Your new password
Cancel
आज सुबह ही एक दर्दनाक खबर आई कि बैंगलोर में एक लड़ाकू विमान का हादसा हो गया है। इसमें वायु सेना के एक विमान सूर्य किरण हवा में करतब दिखाते हुए दूसरे एयरक्राफ्ट से टकरा कर क्रैश हो गया।
बात करें इस विमान की तो ये विमान 20 फरवरी को होने वाले एयर शो की तैयारी कर रहा था और इसी बीच ये विमान हादसा हो गया है। तो जानिये इस एक्रॉबैटिक एयरक्राफ्ट के बारे में कुछ खास बातें।
क्या है सूर्य किरण
आपको बता दें कि विमान का नाम सूर्यकिरण है और ये भारतीय वायु सेना की एक्रॉबैटिक टीम का हिस्सा था। इस विमान का रंग एक स्कीम के तहत है जिसका नाम है ‘डे ग्लो- ऑरेंज एंड व्हाइट’ कलर स्कीम। ये एयरक्राफ्ट दिखने में नारंगी और सफेद रंग का है। इस टीम का गठन साल 1996 में किया गया था और इसके साथ भारतीय सेना में 2011 तक HAL HJT-16 Kiran और Mk.2 आ चुके थे। बता दें कि सिर्फ भारत में ही नहीं इस एयरक्राफ्ट ने दुनिया भर में अपने करतब से अपना दमखम दिखाया है।
साल 2011 तक ये एयरक्राफ्ट बैंगलोर में स्थित बिदर एसरबेस का हिस्सा थे। बता दें कि बिदर एयरफोर्स स्टेशन है यहां ट्रेनिंग देने का काम किया जाता है एयरोनॉटिक टीम की प्रैक्टिस भी यहीं पर होती है। एयरक्राफ्ट में बैठने के लिए दो सीट होती हैं जिसमें से लेफ्ट पर बैठे लीडर राइट साइड का कंट्रोल संभालते हैं और लेफ्ट साइड वाला मास्टर सीट होती है।
इनमें से कुछ फ्लाइ सोलो वाली पॉलिसी के तहत एक ही पायलट के लिए बने होते हैं। एयरक्राफ्ट में दो इनबॉर्ड ड्रोप टैंक होते हैं। जिनकी मदद से स्मोक छोड़ा जाता है। डीज़ल की मदद से इसमें स्मोक बनाया जाता है और अगर दूसरे रंग चाहिये तो इसके लिए इसमें डाई डाली जाती है।
साल 2015 में डिफेंस मंत्रालय ने इसमें बदलाव करते हुए एक नयी पैंट स्कीम इस पर लागू की और 20 BAE सिस्टम के तहत खरीदे गये एयरक्राफ्ट को हॉक Mk. 132 को सिर्फ एरोबैटिक के लिए समर्पित कर दिया है और इसमें अब दो बड़े-बड़े डाई के कनसतर लगेंगे
Author- Anida Saifi
ऐसी रोचक और अनोखी न्यूज़ स्टोरीज़ के लिए गूगल स्टोर से डाउनलोड करें Lopscoop एप, वो भी फ़्री में और कमाएं ढेरों कैश वो भी आसानी से...
YOUR REACTION
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0

Add you Response

  • Please add your comment.