Forgot your password?

Enter the email address for your account and we'll send you a verification to reset your password.

Your email address
Your new password
Cancel
इन दिनो युवाओं और बच्चों में ऑनलाइन गेम्स का क्रेज इस कदर बढ़ चुका है कि इसका विपरित असल सेहत पर भी दिखाई पड़ने लगा है। कुछ समय पहले तक ‘ब्लू व्हेल’ गेम की लत जहां किशोरों और युवाओं के लिए बड़ा खतरा बनकर सामने आई थी, वहीं अब ‘पबजी गेम’ की लत युवाओं से लेकर बच्चों को अपने चपेट में ले रही है। स्वास्थ्य विशेषज्ञों की माने तो पबजी की लतड्रग से भी अधिक खतरनाक है। यही वजह है कि देश के कई राज्यों में इसे बैन करने की मांग उठ रही है। आज हम आपको यही बताने जा रहे हैं, कैसे बच्चों पबजी की लत लग रही है और क्यों ये गेम सेहत के लिए हानिकारक साबित हो सकती है।
क्यों बढ़ रहा है ‘पबजी’ का क्रेज
असल में इस गेम में कई तरह के हाईटेक फीचर हैं। साथ ही इसमें अट्रैक्टिव ग्राफिक्स, पावरफुल साउंड के साथ-साथ मोशन सेंसरिंग टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल किया गया है, जो कि बच्चों को आर्कषित कर रहा है। ऐसे में ये गेम खेलने वाले का ध्यान यूं खीचता है कि वो बाकि दुनियादारी लगभग भूल ही जाता है।
क्यों पबजी की लत सेहत पर पड़ रही है भारी
असल में इस गेम को खेलने वाले कई घंटे बिना किसी मूवमेंट के एक ही जगह बिता देते हैं और सिर्फ स्क्रीन पर आंखे गड़ाए रहते हैं। जिससे आँखों के साथ ही दिमाग पर खासा जोर पड़ता है। ऐसे में ये दबाव आपको मानसिक तनाव में भी ला सकता है। हाल ही में जम्मू में एक ऐसा मामला सामने भी आया है कि जहां एक फिटनेस ट्रेनर ने 10 दिन तक लगातार पबजी खेलने के बाद अपना मानसिक संतुलन खो दिया।
मानसिक अवसाद के साथ अनिद्रा की बीमारी
जी हां, ये गेम मानसिक अवसाद के साथ अनिद्रा की बीमारी का कारण भी बन रही है। असल में, इस गेम में टास्क जीतने का सुरूर लोगों पर इस कदर बढ़ता जाता है कि वो नींद की भी अनदेखी कर रहे हैं, ऐसे में धीरे-धीरे इस गेम की लत लोगों को अनिद्रा की शिकार बना रही है।
आंखों को नुकसान
मोबाइल स्क्रीन की नीली रोशनी आंखों के लिए बेहद हानिकारक मानी जाती हैं और वहीं गेम खलते वक्त लोग घंटों तक स्क्रीन पर नजरे गढ़ाए रह रहे हैं। ऐसे में ये इससे आंखों पर गलत प्रभाव पड़ रहा है और आंखो की रोशनी कमजोर हो रही है।
Author: Yashodhara Virodai
YOUR REACTION
  • 28
  • 28
  • 41
  • 16
  • 4
  • 28

Add you Response

  • Please add your comment.