Forgot your password?

Enter the email address for your account and we'll send you a verification to reset your password.

Your email address
Your new password
Cancel
जिमनास्टिक्स की दिग्गज नादिया कोमांसी ने दीपा करमाकर को सलाह दी है कि उन्हें टोक्यो ओलंपिक में पदक के लिए चुनौती देने में सक्षम होने के लिए कुछ भी बदलने या विदेश जाने की जरूरत नहीं है, बल्कि पर्यावरण में बदलाव के लिए सिर्फ एक या दो सप्ताह के लिए विदेश में प्रशिक्षण लेना चाहिए। नादिया कोमांसी रोमानिया की जिमनास्ट हैं और ओलंपिक में पांच बार गोल्ड मेडल जीत चुकी हैं।
उन्होंने कहा कि "वह (दीपा) अगले ओलंपिक में पदक के लिए चुनौती देने में सक्षम हो सके, इसके उसे विदेश जाने की आवश्यकता नहीं है। क्योंकि भारत में वो सभी प्रणालियां मौजूद हैं जो जिमनास्ट को अच्छा बनाने में सहायक हो सकता है। लेकिन मैं उसे सुझाव देना चाहूंगी कि शायद वह विदेश जाकर और ट्रेनिंग लें तो पर्यावरण को बदलने में मदद मिलेगी।"
कोमनेसी ने आगे कहा कि "हां, पिछले कुछ वर्षों में यूएसए, रूस और रोमानिया ने इस खेल पर अपना वर्चस्व कायम किया है। लेकिन दीपा जैसी प्रतिभाशाली जिमनास्ट को भारत से बाहर निकलते देखना आकर्षक है। उनकी सफलता यह सुनिश्चित करेगी कि अब किसी भारतीय के लिए जिमनास्टिक के बेहद प्रतिस्पर्धात्मक खेल में विश्व मंच पर चमकने के लिए भारत की ट्रेनिंग काफी है।"
वह यह भी कहती है कि "2016 के रियो ओलंपिक में दीपा के प्रयास को देखकर वह बहुत आश्चर्यचकित थी, जिसमें इस भारतीय जिमनास्ट ने एक कांस्य पदक जीता था। मुझे कहना होगा कि इसके लिए बहुत अधिक हिम्मत की आवश्यकता है। यह वास्तव में बहादुरी और जिमनास्ट के समर्पण का ही कमाल है कि वह इसे अंजाम देने में सफल रहीं।"
ऐसी रोचक और अनोखी न्यूज़ स्टोरीज़ के लिए गूगल स्टोर से डाउनलोड करें Lopscoop एप, वो भी फ़्री में और कमाएं ढेरों कैश वो भी आसानी से
<iframe width="100%" height="250" src="https://www.youtube.com/embed/vxEs7_BgJhM" frameborder="0" allow="accelerometer; autoplay; encrypted-media; gyroscope; picture-in-picture" allowfullscreen></iframe>
YOUR REACTION
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0

Add you Response

  • Please add your comment.