Forgot your password?

Enter the email address for your account and we'll send you a verification to reset your password.

Your email address
Your new password
Cancel
आज जहाँ मेडिकल की पढ़ाई करने वाला हर स्टुडेंट जब अपने कोर्स के लास्ट सेमेस्टर का एग्ज़ाम दे रहा होता है तो उसके दिमाग़ में एक ही बात चल रही होती है कि अब जैसे ही वह मेडिकल की अपनी पढ़ाई पूरी कर लेगा, तो पास आउट होते ही वह अपनी बेहतरीन क्लनिक खोल लेगा और जमकर पैसा कमाये गया। ये भारत के हर मेडिकल कॉलेज़ में पढ़ाने वाले ज़्यादातर स्टुडेंट्स की स्याह कहानी है। इन्हीं बातों के चलते मेडिकल प्रबंधनों की अनुशंसा पर मेडिकल स्टुडेंट्स को पास आउट होते ही दो साल पीएचसी में पोस्टिंग कंपलसरी कर दी गयी है। वास्तव में बिना इसकी आनिवार्यता के शायद ही कोई ऐसा शख़्स हो जो पीएचसी तक में जाना पसन्द करता हो। वहीं इसके बरक्स ओडिशा के डॉ. चित्तरंजन जेना कोराकुल के आसपास के ग्रामीण और ग़रीब इलाक़ों में हमेशा के लिए ख़ुद की सेवाएँ देने का निश्चय किया।
डॉ. चित्तरंजन जेना के इस दृढ़ संकल्प के पीछे का क़िस्सा साल 2007 की वह घटना है जब ओडिशा के कोरापुट ज़िले के दसमंतपुर ब्लॉक में हैजे के कारण कई ग़रीब आदिवासियों और उनकी औरतों व बच्चो की मौत हो गयी थी। इस घटना ने डॉ. चित्तरंजन जेना को भीतर तक हिलाकर रख दिया था। इसके बाद उन्होंने डॉक्टर बनने का फ़ैसला किया और साल 2016 में उसी कोरापुट ज़िले में वह मेडिकल ऑफ़ीसर बनके आ गये।
आपको बता दें कि देश के सबसे निर्धनतम इलाक़ों में से एक कोरापुट में आकर डॉ. चित्तरंजन जेना ने आदिवासियों के हित में काम करना शुरू कर दिया। इसके लिए इन्होंने सबसे पहले अपने ही जैसी सोच वाले कुछ साथी डॉक्टर्स के साथ मिलकर ‘गाँवकू चला कमेटी’ का गठन किया। इसमें डॉक्टर्स के अलावा कुछ वॉलंटियर्स भी रखे। इसके बाद कमेटी को कई अलग-अलग टीमों में बाँट दिया गया, जिसमें एक डॉक्टर और कुछ वॉलंटिर्स रखे गये।
‘गाँवकू चला कमेटी’ ने कोरापुट ज़िले में काफी तेज़ी से और सार्थक काम किया और बड़ा परिवर्तन करके दिखा दिया है। डॉ. चित्तरंजन जेना के प्रयासों से आदिवासियों की प्रशासनिक अनदेखी भी दूर हो गयी। सबसे बड़ी बात तो आदिवासियों में स्वास्थ्य चेतना आयी है। वास्तव में डॉ. चित्तरंजन जेना ने ओडिशा के कोरापुट में जो पहल की है वह देश के दूसरे इलाक़ो में भी अमल योग्य है।
Author: Amit Rajpoot
ऐसी रोचक और अनोखी न्यूज़ स्टोरीज़ के लिए गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड करें Lop Scoop App, वो भी फ़्री में और कमाएँ ढेरों कैश आसानी से!
YOUR REACTION
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0

Add you Response

  • Please add your comment.