Forgot your password?

Enter the email address for your account and we'll send you a verification to reset your password.

Your email address
Your new password
Cancel
गर्मी की प्रॉपर्ली शुरुआत हो चुकी है। ऐसे में गर्मी के इन दिनों में हमें अपनी आदतों में काफी बदलाव लाने की ज़रूरत होती है। जैसा कि हम सब जानते ही हैं कि इन दिनों सूरज का पारा काफ़ी चढ़ गया है। इस पारे के कारण हमें कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ता है। बहुत ज़्यादा गर्मी लगना, हाथों व पैरों में जलन, डिहाइड्रेशन, लू, कमज़ोरी और नाक से ख़ून आदि निकलने की मुख्य समस्याएँ हमें गर्मी के दिनों मे झेलनी पड़ती हैं, जिसके कारण हमें कई बार अस्पताल तक का मुँह देखना पड़ जाता है। इसलिए गर्मी में यदि आप पूरी तरह से स्वस्थ बने रहना चाहते हैं तो 5 प्रमुख आदतों से आपको बचकर रहना ही होगा।
1. एल्कोहल न पियेः
गर्मी के मौसम में कफ का क्षय हो जाता है वायु का प्रकोप बढ़ जाता है। ऐसे में वातावरण में गर्मी और शरीर की विकृतियों के कारण यदि हम एल्कोहल का सेवन करते हैं तो पिर ये हमारे लिए बहुत ही ज़्यादा नुकसानदेह हो सकता है। इससे आपका ब्लड प्रेशर बढ़ सकता है और आंन्तरिक रक्सस्राव बी हो सकता है।
2. कम से कम नमक का प्रयोगः
गर्मी के दिनों में नमक का सेवन पित्त वर्धक माना जाता है। आपको बता दें कि चूँकि नमक की तासीर ऊष्णता है, इसलिए गर्मी में नमक का अधिक सेवन करने से हमें काफी नुकसान हो जाता है।
3. खट्टे से परहेजः
गर्मी के दिनों में खट्टा पदार्थ पित्तवर्धक होता है और वह ऊष्णवर्धक भी होता है। ऐसे में आपको खट्टी चीज़ों का सेवन नहीं करना चाहिए। ध्यान देने वाली बात है कि नींबू, आँवला और अनार का सेवन करना इसमें अपवाद है। कच्चा आम सबसे अधिक नुकसानदेह है।
4. व्यायामः
वैसे तो व्यायाम एक अच्छी चीज़ मानी जाती है, लेकिन गर्मी के दिनों में व्यायाम करने से आपके शरीर में शक्ति का क्षय हो जाता है। इसलिए इन दिनों व्यायाम को नज़रअंदाज़ करना फ़ायदेमंद होगा।
5. मैथुनः
गर्मी के मौसम में हमारे शरीर की धातुओं का क्षय होने लगता है। इसलिए गर्मी के दिनों में मैथुन को दुश्मन की तरह देखना चाहिए। आपका मन न मान रहा हो तो 15 दिनों में एक बार मैथुन करना ही आपके लिए ठीक होगा।
Author: Amit Rajpoot
YOUR REACTION
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0

Add you Response

  • Please add your comment.