Forgot your password?

Enter the email address for your account and we'll send you a verification to reset your password.

Your email address
Your new password
Cancel
21वीं सदी का आग़ाज़ हो रहा था और उसी के साथ इस ब्रह्माण्ड को मिल रही थी एक सुन्दरी, जिसका नाम था लारा दत्ता। जी हाँ, लारा दत्ता ने साल 2000 में मिस यूनिवर्स का ख़िताब जीतकर भारत का मान बढ़ाया था। आज उनका जन्मदिन है। आपको बता दें कि लारा दत्ता का जन्म 16 अप्रैल, 1978 को उत्तर प्रदेश के ज़िला ग़ाज़ियाबाद में हुआ था। इनके पिता का नाम एलके दत्ता और माँ का नाम जेनिफ़र दत्ता है। इस प्रकार, आज लारा दत्ता अपना 41वाँ बर्थ-डे सेलीब्रेट कर रही हैं। आपको बता दें कि मिस यूनिवर्ष बनने के तीन साल पहले लारा दत्ता ने साल 1997 में ‘मिस इंटरकांटिनेंटल’ का ख़िताब भी अपने नाम कर चुकी थीं और उससे दो साल पहले साल 1995 में ‘ग्लैडरैग्स मेगामॉडल इंडिया’ की विजेता भी रही हैं।
लारा दत्ता के बारे में और कुछ बताने के लिए ज़्यादा जगह वास्तव में बचती नहीं है। इनमें टैलेण्ट कूट-कूटकर भरा है। ये शुरू से ही मुखर स्बाव की रही हैं और हर मंच पर ख़ुद को साबित करने का जुनीन भी इनमें असीम था। यही कारण था कि 21वीं सदी का आग़ाज़ इनके लिए बेहद लकी रहा और इसकी शुरुआत में ही साल 2000 में इन्हें पूरे ब्रह्माण्ड में पहचान मिली। लारा दत्ता को ये पहचान न सिर्फ़ मिस यूनिवर्ष बनकर मिली थी, बल्कि उस साल इन्होंने कई और विजय हासिल की। इसमें ये फेमिना मिस इंडियाः 2000 की विजेता रहीं और इसके साथ-साथ मिस ग्रैंड स्लैमः 2000 का भी विजय मुकुट इन्होंने अपने ही सिर सजवाया और विजेता रहीं।
इन सफ़लताओं के बाद लारा दत्ता ने अभिनय की दुनिया में क़दम रखा। कुल मिलाकर यह समझिए कि लारा दत्ता ने जहाँ भी क़दम रखा वहाँ सफ़लता के फूल खिले। फ़िल्मों में भी लारा दत्ता ने अपने झंडे गाड़ने शुरू कर दिये।
इस पूरे सफ़र में फिल्मफेयर, स्टार स्क्रीन अवार्ड, स्टारडस्ट अवार्ड्स, राजीव गांधी अवार्ड्स, फिक्की यंग अचीवर्स अवार्ड, लोरियल फेमिना वीमेन अवार्ड और लक्स गोल्डन रोज़ जैसे अवार्ड भी लारा दत्ता ने अलग-अलग सालों में अपनी अलग-अलग प्रतिभाओं के लिए जीता है।
Author: Amit Rajpoot
YOUR REACTION
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0

Add you Response

  • Please add your comment.