Forgot your password?

Enter the email address for your account and we'll send you a verification to reset your password.

Your email address
Your new password
Cancel
भारत में वैसे तो देखने योग्य कई सारी जगहें और पर्यटन स्थल हैं, पर प्राकृतिक खूबसूरती के साथ जैसी सामाजिक-राजनीतिक समरसता सिक्किम में देखने को मिलती है, वैसा कहीं और नहीं। यहां दूर-दर तक फैली वादियों में जैसी शांति आपको महसूस होगी, वहीं यहां के रिहायशी इलाको भी ऐसी ही शांति देखी जाती है। यही वजह है कि आज पर्यटको के लिए ये जगह ना सिर्फ आर्कषण का केंद्र हैं, बल्कि ये सबसे सुरक्षित भी है। वैसे आप सोच रहें होंगे कि हम आपको ये सब क्यों बता रहे हैं तो बता दें कि असल में आज ही के दिन सिक्किम भारत का हिस्सा बना था।
जी हां, सिक्किम जहां पहले ग्याल राजतन्त्र द्वारा शासित एक स्वतन्त्र राज्य था, परन्तु साल 1975 में वहां हुए जनमत-संग्रह के बाद आज ही के दिन यानी 26 अप्रैल(1975) को इसका भारत में विलय हुआ और ये भारत के 22वें राज्य के रूप में जाना गया। ऐसे में आज अगर के दिन को भारतीय राज्य के रूप सिक्किम का जन्मदिन दिवस माने तो कुछ गलत नहीं होगा। ऐसे में आज हम आपको भारत के इस बेहद शांत-सुंदर और सांस्कृतिक धरोहर के लिए प्रसिद्ध राज्य से परिचय करा रहे हैं।
बात करे सिक्किम के इतिहास की आपको बता दें इतिहास में यहां जितनी राजनतिक उथल-पुथल रही, वर्तमान में उतना ही शांत है यहां का मौहाल। 17वीं सताब्दी के शुरूआत से ही यहां पड़ोसी देशों के चौतरफा आक्रमण को झेलना पड़ा... चीन, नेपाल और भूटान के अतिक्रमण ये राज्य हमेशा से प्रभावित रहा। वहीं भारत की आजादी से पहले यहां ब्रतानी भारत का भी आधिपत्य था और यहां का राज परिवार चोग्याल ब्रिटीश शाषन की कठपुतली थी।
नतीजन साल 1973 में वहां के राजभवन के सामने दंगे होने के बाद वहां राजनीतिक संकट की स्थिति बनती गई, ऐसे में भारत सरकार से सिक्किम को संरक्षण प्रदान करने का औपचारिक अनुरोध किया गया। जिसके बाद अप्रैल तत्कालीन भारत सरकार ने इस विषय में निर्णय लिआ और साल 1975 में भारतीय सेना सिक्किम में प्रविष्ट हुई और दो दिनों के भीतर सम्पूर्ण सिक्किम राज्य भारत सरकार के नियंत्रण में आ गया। इसके बाद दोबारा सिक्किम में जनमत कराया गया, जिसमें भारतीय गणराज्य मे सम्मिलित्त करने का प्रश्न पर सिक्किम की 97.5 प्रतिशत जनता ने अपना समर्थन किया।
इसके बाद सिक्किम को भारत का 22वां राज्य बनाने के लिए संविधान संशोधन विधेयक 23 अप्रैल, 1975 को लोकसभा में पेश किया गया,जिसे उसी दिन 299-11 के मत से पास कर दिया गया, जबकि राज्यसभा में ये बिल 26 अप्रैल को पास हुआ और इस तरह सिक्किम को भारत के 22वें राज्य का दर्जा मिला।
YOUR REACTION
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0

Add you Response

  • Please add your comment.