Forgot your password?

Enter the email address for your account and we'll send you a verification to reset your password.

Your email address
Your new password
Cancel
कहते हैं कि अगर आपको अपने आप पर और अपनी काबिलियत पर भरोसा है तो दुनिया की कोई ताकत आपको सफलता के झंडे गाड़ने से नहीं रोक सकती। दुनिया को अपने महान कार्यों की रोशनी से चकाचौंध कर देने वाले पुरुष अपनी काबिलियत और योग्यता के भरोसे ही कुछ बड़ा कर गुजरते हैं। इस दशक में स्मार्ट फोन का इस्तेमाल करने वाला लगभग हर व्यक्ति व्हाट्सअप जरूर इस्तेमा करता है। युवाओं औऱ टीनएजर्स में तो अच्छी खासा क्रेज है इसका। ये एप्पलीकेशन पर्सनल से लेकर प्रोफेशनल तक हर तरह के कार्यों में इस्तेमाल होता है। इसके बारे में तो हर किसी को पता होगा, लेकिन मानव समाज को ये एप्पलीकेशन देने वाले शख्स के बारे में क्या आपको पता है। (Brian Acton) जी हां, यही वो शख्स हैं जो व्हाट्सअप को हमारे और आपको बीच लेकर आए थे।
कहते हैं कि हर महान कार्य के पीछे एक बड़ी प्रेरणा होती है। साल 2006 में एक्टन ने फेसबुक में जॉब के लिए अप्लाई किया था। फेसबुक में काम करना उनका सपना था, लेकिन फेसबुक ने उन्हे रिजेक्ट कर दिया और उन्हे जॉब नहीं दी। उन्होने ट्विटर में भी जॉब के लिए अप्लाई किया लेकिन वहां से भी रिजेक्ट कर दिए गए। यही वो समय था जब उन्होने निराश होने के बजाय कुछ ऐसा करना चाहा जिससे कि फेसबुक को भी उन्हे रिजेक्ट करने के लिए पछताना पड़े।जी हां, ब्रायन एक्टन की जीवनी काफी प्रेरणादायी है, चलिए पको इनके बारे में विस्तार से बताते हैं।
ब्रायन एक्टन का जन्म 17 फरवरी 1972 को मिशिगन में हुआ था लेकिन वो सेंट्रल फ्लोरिडा में पले बढ़े जहां उन्होंने लेक हॉवेल हाई स्कूल से पढ़ाई की। एक्टन को पेंसिल्वेनिया विश्वविद्यालय में इंजीनियरिंग की पढ़ाई करने के लिए छात्रवृत्ति मिली लेकिन स्टैनफोर्ड में पढ़ाई करने के लिए उन्होने पेंसिल्वेनिया विश्वविद्यालय और छात्रवृत्ति दोनों छोड़ दी। उसके बाद उन्होंने 1994 में स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय से कंप्यूटर विज्ञान में स्नातक की उपाधि प्राप्त की।
1992 में एक्टन ने रॉकवेल इंटरनेशनल के लिए एडमिनिस्ट्रेटर का काम किया, उसके बाद Apple Inc. और Adobe Systems में प्रोडक्ट टेस्टर के तौर पर कार्य करते रहे। 1996 में एक्टन को याहू से ऑफर मिला और उन्होने 44वें कर्मचारी के रूप में याहू ज्वाइन कर ली।
इसके बाद एक्टन ने साल 2006 में फेसबुक में जॉब के लिए अप्लाई किया जहां उन्हें रिजेक्ट कर दिया गया। पर एक्टन ने हार नहीं मानी उन्होनें अपने मजबूत इरादों और दिन-रात की कड़ी मेहनत से अपने एक मित्र के साथ मिलकर व्हाट्सअप बनाया। ये वही व्हाट्सअप है जिससे आज सारी दुनिया जुड़ी है। उनके मेहनत का रंग चढ़ना बस यहीं तक नहीं रुका व्हाट्सअप बनने के पांच साल बाद उसी फेसबुक ने व्हाट्सअप को 19 बिलियन डॉलर में खरीदा। वही फेसबुक जिसने 2006 में एक्टन को नौकरी देने से मना कर दिया था उसी फेसबुक ने बाद में उनके टैलेंट का लोहा मानते हुए उन्हे अपनी कंपनी में शेयर होल्डर बनाया। सितंबर 2017 में एक्टन ने व्हाट्सअप से इस्तीफा दे दिया और मोक्सी मार्लिंसेपिक के साथ मिलकर सिग्नल फाउंडेशन की आधारशिला रखी।
YOUR REACTION
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0

Add you Response

  • Please add your comment.