Forgot your password?

Enter the email address for your account and we'll send you a verification to reset your password.

Your email address
Your new password
Cancel
गणेश आचार्य भारतीय सिनेमा में मौजूद एक ऐसे बेहतरीन डांसर और कमाल के कोरियोग्राफ़र हैं, जिन्होंने हमेशा मुसीबतों से जूझकर अपनी मंज़िल हासिल की है। इनका जन्म 14 जून, 1971 को तमिलनाडु राज्य के चेन्नई में हुआ। ये फ़िल्म इंडस्ट्री के डांस मास्टर गोपी के बेटे हैं। मास्टर गोपी का इंतकाल तभी हो गया था जब गणेश आचार्य महज 10 बरस के ही थे। यही कारण था कि गणेश आचार्य का परिवार ग़रीबी और मुफलिसी में आ गया और इनकी पढ़ाई-लिखाई भी बीच में ही छूट गयी। इसके बाद गणेश आचार्य उड़ीसा के कटक पहुँचे जहाँ इन्होंने अपनी बहन कमला आचार्य से डांस सीखा।
आपको ये जानकर आश्चर्य होगा कि अपनी बहन से डांस सीखने के बाद गणेश आचार्य ने महज 12 बरस की उम्र में ही अपना डांस ग्रुप तैयार कर लिया था और 19 साल तक आते-आते ये एक हुनरबंद डांसर जाने-माने कोरियोग्राफ़र के रूप में अपना नाम तैयार कर ले गया था। दिलचस्प है कि महज 21 साल की उम्र में सन् 1992 में आयी फ़िल्म ‘अनाम’ के साथ ही गणेश आचार्य फ़िल्मों से आ जुड़े और फिर इन्होंने भारतीय सिनेमा में अपना नाम बनना शुरू कर दिया था।
बॉलीवुड में एण्ट्री लेने के बाद गणेश आचार्य ने फिर कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा। यहाँ रुककर इन्होंने अपने डांस मूव से एक से बढ़कर एक सितारे को नचाया, फिर चाहे वो माधुरी दीक्षित रहीं या फिर मनीषा कोईराला, गोविन्दा रहे कि करिश्मा कपूर। बीड़ी जलइले रहा कि बड़ी मुश्किल बाबा बड़ी मुश्किल हर गाने में गणेश आचार्य के सिगनेचर स्टेप्स कमाल कर देते हैं।
बात करें गणेश आचार्य के दूसरे टैलेण्ट की तो इन्हें डांसर और कोरियोग्राफ़र के अलावा एक ज़बरदस्त फ़िल्म डायरेक्टर के साथ-साथ एक बेहतरीन अभिनेता के रूप में भी जाना जाता है। मनोज बाजपेयी और जूही चावला के साथ इनके निर्देशन में बनी फ़िल्म स्वामी को भला कौन भूल सकता है। इन्होंने फ़िल्म मनी है तो हनी है को भी डायरेक्ट किया है। फिलहाल गणेश आचार्य का भारतीय सिनेमा में एक अध्याय है, जिसके योगदान को कभी भुलाया नहीं जा सकता है।
Author: Amit Rajpoot
YOUR REACTION
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0

Add you Response

  • Please add your comment.