Forgot your password?

Enter the email address for your account and we'll send you a verification to reset your password.

Your email address
Your new password
Cancel
आपने बॉलीवुड फिल्मों में एटीएस ऑफिसर्स के बहादुरी की दास्तां तो बहुत देखीं होंगीं, पर रिएल लाइफ में ऐसे किस्से बहुत कम सुनने को मिलते हैं, खासकर एटिएस जैसे फोर्स में शामिल महिला पुलिस कर्मियों के कारनामें बहुत कम सामने आते हैं। लेकिन गुजरात एटीएस टीम की महिला पुलिसकर्मियों ने हाल ही में जो किया है, उसे नजरअंदाज कर पाना अपने आप में मुश्किल है। तो चलिए आपका परिचय गुजरात ATS की जाबांज उन महिला पुलिस कर्मियों से कराते हैं, जिन्होने क्षेत्र के सबसे खतरनाक डॉन को गिरफ्तार किया है।
दरअसल, गुजरात की एटीएस (एंटी टेररिस्ट स्क्वॉड टीम) को बीते रविवार एक बड़ी कामयाबी मिली है, इस टीम की 4 महिला पुलिसकर्मियों क्षेत्र के एक बेहद कुख्यात डॉन को बोटाद के जंगल से गिरफ्तार किया है। असल में, बीते दिनों गुजरात एटीएस की टीम को ये जानकारी मिली थी कि खतरनाक और हिस्ट्रीशीटर अपराधी बोटाड के जंगलों में छिपा है। ऐसे में गुजरात एटीएस के डीआईजी हिमांशु शुक्ला ने इस पर तत्काल एक्शन लेते हुए एक टीम बनाई, जिसमें 4 महिला पुलिस इंस्पेक्टर्स को शामिल किया गया।
<blockquote class="twitter-tweet" data-lang="en"><p lang="en" dir="ltr">Ahmedabad: A team of Gujarat Anti-Terrorism Squad (ATS) arrested gangster Jusab Allarakha, a native of Junagadh, yesterday. PSI Santok Odedra says "he has 4 cases of murder registered against him among other cases of loot and attacking Government officials". <a href="https://twitter.com/hashtag/Gujarat?src=hash&ref_src=twsrc%5Etfw">#Gujarat</a> <a href="https://t.co/A88Hp6OZ5T">pic.twitter.com/A88Hp6OZ5T</a></p>— ANI (@ANI) <a href="https://twitter.com/ANI/status/1125159469829148672?ref_src=twsrc%5Etfw">May 5, 2019</a></blockquote><script async src="https://platform.twitter.com/widgets.js" charset="utf-8"></script>
जिसके बाद इस टीम ने शनिवार देर रात बोटाद के जंगल में सर्च ऑपरेशन शुरू किया और इस मुठभेड़ नामचीन डॉन जुसब अल्लारखा को गिरफ्तार कर लिया गया।
जी हां, तस्वीर में आप जिस शख्स को जमीन पर बैठे देख रहे हैं, वो जुसब अल्लारख्खा नाम का एक खतरनाक गैंगेस्टर है, जिसका खौफ गुजरात के जूनागढ़ और आसपास के क्षेत्र में था। इसके ऊपर आठ हत्याओं समेत 23 गंभीर अपराध दर्ज हैं। पर इन महिला पुलिस कर्मियों की बहादुरी देखिए कि उन्होने इसे घुटनों टेकने को मजबूर कर दिया और हाथ में हथकड़ी डाल सलाखों के पीछे भेज दिया।
बात करें इस चार महिलाओं की दस्ते की तो इसमें शामिल नीतिका गोहिल 2010 में करई अकैडमी से और जबकि तीन अन्य 2013 में पास हुईं थीं। चारों गुजराते के अलग-अलग क्षेत्रों की रहने वाली हैं जो कि वर्तमान समय में अहमदाबाद एटीएस में तैनात हैं। इस कार्यवाही के बाद गुजरात एटीएस के साथ ही इन महिला पुलिस कर्मियों के कारनामे सुर्खियों में हैं।
Author: Yashodhara Virodai
YOUR REACTION
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0

Add you Response

  • Please add your comment.