Forgot your password?

Enter the email address for your account and we'll send you a verification to reset your password.

Your email address
Your new password
Cancel
हर शख्स यही चाहता है कि काश उसके पास कोई नोट छापने वाली मशीन होती। फिर वह दुनिया की हर चीज खरीद पाता। लेकिन सपनों की दुनिया हमेशा साकार नहीं हो पाती। इस दुनिया में पैसा कमाने का कोई शॉर्ट-कट नहीं होता, आप जितनी मेहनत करेंगे आपको उतना ही मिलेगा। लेकिन लगता है कि कुछ लोगों के लिए इस बात को समझ पाना बहुत मुश्किल है। इसीलिए वह कोई न कोई बेवकूफी करके खुद को मुसीबत में फंसा लेते हैं। अब ऐसा ही एक मामला सामने आया है।
दरअसल, जर्मनी की रहने वाली एक 20 साल की लड़की ने घर ही पैसे छाप दिए। अब आप भी सोच रहे होंगे कि आखिर यह कैसे संभव है? दरअसल, इस लड़की ने अपने घर में ही रखे इंकजेट प्रिंटर से साधारण कागज पर पैसे छाप दिए। इसके बाद वह इन पैसों को लेकर एक कार के शोरूम में ऑडी कार खरीदने के लिए पहुंच गई। Oddity Central के अनुसार, इस लड़की का घर Kaiserslautern में हैं।
वह बीते सोमवार को 11,61,611 रुपए लेकर शोरूम में पुरानी ऑडी ए3 कार लीडरशिप पर खरीदने के लिए पहुंच गई। शोरूम के स्टाफ ने इस लड़की को भी अपने दूसरे ग्राहकों की तरह अटेंड किया। इस दौरान लड़की ने भी बहुत संजीदगी के साथ कार का पूरा मुआयना लिया। सिर्फ इतना ही नहीं वह कार पसंद करके एक टेस्ट ड्राइव पर भी निकल पड़ी। लेकिन जब उसने पैसे निकालकर दिए तो वहां मौजूद हर शख्स हैरान रह गया, क्योंकि यह वही नकली नोट थे जिन्हें उसने अपने घर के प्रिंटर के जरिए छापा था।
इसके बाद पुलिस में लड़की के खिलाफ FIR दर्ज करवा दी गई। इस पूरे मामले पर मीडिया से बात करते हुए एक शोरुम के एक कर्मचारी ने कहा कि, ये नोट बिल्कुल वैसे दिख रहे थे जैसे मोनोपोली बोर्ड गेम के लिए इस्तेमाल किए जाते हैं। उन्होंने आगे कि, "हमने बहुत सी धोखाधड़ी की कोशिश करते हुए लोगों को देखा है, लेकिन इस तरह की वेबकूफी वाला यह पहला मामला है। मैंने उस लड़की से पूछा भी था कि वह मोनोपोली खेलना चाहती है क्या?"
<blockquote class="twitter-tweet" data-lang="en"><p lang="de" dir="ltr">Gescheiterter Autokauf mit 15.000 € <a href="https://twitter.com/hashtag/Falschgeld?src=hash&ref_src=twsrc%5Etfw">#Falschgeld</a>. Junge Frau festgenommen. Bei der Durchsuchung in <a href="https://twitter.com/hashtag/Pirmasens?src=hash&ref_src=twsrc%5Etfw">#Pirmasens</a> wurden weitere "Blüten" im Wert von 13.000 € beschlagnahmt. Die Falsifikate waren auch für den Laien leicht erkennbar. Pressebericht: <a href="https://t.co/ZnbXstLELC">https://t.co/ZnbXstLELC</a> <a href="https://t.co/BskwqluLRG">pic.twitter.com/BskwqluLRG</a></p>— Polizei Pirmasens (@Polizei_PS) <a href="https://twitter.com/Polizei_PS/status/1150738760604237824?ref_src=twsrc%5Etfw">July 15, 2019</a></blockquote><script async src="https://platform.twitter.com/widgets.js" charset="utf-8"></script>
गौरतलब है कि, एफआईआर करवाने के बाद पुलिस जब इस लड़की के घर पहुंची तो उन्हें वहां 13000 के यूरो नोट और मिले जो उसी समय प्रिंटर से निकाले गए थे। आपको बता दें कि, जर्मनी में नकली नोट छापने और उनका बाजारों में इस्तेमाल करने पर 1 से 2 साल जेल की सजा दी जाती है।
'ऐसी रोचक और अनोखी न्यूज़ स्टोरीज़ के लिए गूगल स्टोर से डाउनलोड करें Lopscoop एप, वो भी फ़्री में और कमाएं ढेरों कैश वो भी आसानी से
YOUR REACTION
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0

Add you Response

  • Please add your comment.