Forgot your password?

Enter the email address for your account and we'll send you a verification to reset your password.

Your email address
Your new password
Cancel
अब तक आपने धर्म के नाम पर लोगों को बंटते देखा था, लेकिन अब लोग धर्म के नाम पर खाने को भी बांटने का काम कर रहे हैं। कौन है ये लोग, कहां से आते हैं? इसका भी भगवान मालिक है। दरअसल, हम बात कर रहे हैं एक सज्जन कि जिन्होंने ऑनलाइन फूड सर्विस वेबसाइट जोमैटो से खाना मंगवाया, लेकिन जब उन्हें पता चला कि उनका खाना डिलिवर करने वाला शख्स एक गैर हिंदू है... तो उन्होंने खाना लेने से इनकार कर दिया। यही नहीं उन्होंने जोमैटो वालों को शिकायत करते हुए कहा कि वह किसी गैर हिंदू से खाना नहीं लेगें, उनका खाना किसी हिंदू के हाथ भिजवाया जाये।
कस्टमर की सुविधा के लिए तत्पर खड़े रहना एक कंपनी का कर्त्वय होता है, क्योंकि कस्टमर रिलेशन और ब्रांड इमेज नाम की भी तो कोई चीज होती है।
लेकिन, जब बात धर्म की आई और खाने के नाम पर धर्म को बांटा गया, तब जोमैटो ने इंसानियत को तब्बजो दी न कि ब्रांड इमेज के नाम पर इन दकियानुसी बातों को।
जोमैटो ने इस सज्जन को बेहद ही सरल और सहज शब्दों में बहुत बड़ी बात कह डाली। लेकिन पहले देखें इन सज्जन ने कहा कुछ कहा है, “Zomato पर खाने का ऑर्डर कैंसिल कर दिया। क्योंकि उन्होंने एक गैर हिंदू को ऑर्डर देने के लिए भेजा था। कंपनी ने कहा कि वह डिलिवरी करने वाले शख्स को बदल नहीं सकते। साथ ही ऑर्डर कैंसिल करने पर मुझे रिफंड भी वापस नहीं दिया जा सकता।”
इट ट्वीट के बाद जोमैटो ने लिखा, “भोजन का कोई धर्म नहीं होता। बल्कि वो खुद धर्म होता है।”
यकीनन इसके लिए तो तालियां बजनी चाहिए।
लेकिन, यही नहीं... जोमैटो के अधिकारिक ट्वीटर हैंडल के बाद जोमैटो के फाउंडर दीपेंद्र गोयल ने भी इसपर जबरदस्त ट्वीट किया। उन्होंने लिखा, “हमें आइडिया ऑफ इंडिया और हमारे ग्राहकों की विविधता पर गर्व है। हमें अपने उस बिजनेस को खोने में कोई खेद नहीं है, जो हमारी वैल्यूज के बीच आए।”
<blockquote class="twitter-tweet"><p lang="en" dir="ltr">We are proud of the idea of India - and the diversity of our esteemed customers and partners. We aren’t sorry to lose any business that comes in the way of our values. 🇮🇳 <a href="https://t.co/cgSIW2ow9B">https://t.co/cgSIW2ow9B</a></p>— Deepinder Goyal (@deepigoyal) <a href="https://twitter.com/deepigoyal/status/1156431524058652672?ref_src=twsrc%5Etfw">July 31, 2019</a></blockquote> <script async src="https://platform.twitter.com/widgets.js" charset="utf-8"></script>
इस पूरे मामले के बाद जोमैटो ट्वीटर पर ट्रैंड होने लगा। आपको जानकर हैरानी होगी कि जोमैटो के इस कदम की सराहना करने के लिए खुद जोमैटो की प्रतिध्वंधि कंपनी उबर ईट्स भी सामने आई। उबर इट्स इंडिया ने ट्वीट करते हुए लिखा, “जोमैटो हम आपके साथ खड़े हैं।”
<blockquote class="twitter-tweet"><p lang="en" dir="ltr">.<a href="https://twitter.com/ZomatoIN?ref_src=twsrc%5Etfw">@ZomatoIN</a>, we stand by you. <a href="https://t.co/vzjF8RhYzi">https://t.co/vzjF8RhYzi</a></p>— Uber Eats India (@UberEats_IND) <a href="https://twitter.com/UberEats_IND/status/1156552511509024768?ref_src=twsrc%5Etfw">July 31, 2019</a></blockquote> <script async src="https://platform.twitter.com/widgets.js" charset="utf-8"></script>
ऐसी रोचक और अनोखी न्यूज़ स्टोरीज़ के लिए गूगल स्टोर से डाउनलोड करें Lopscoop एप, वो भी फ़्री में और कमाएं ढेरों कैश वो भी आसानी से
YOUR REACTION
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0

Add you Response

  • Please add your comment.