Forgot your password?

Enter the email address for your account and we'll send you a verification to reset your password.

Your email address
Your new password
Cancel
अगर हम दिल्ली के किलों की बात करें, तो आपके जहन में लाल किला, पुराना किला, हूमायूं का मकबरा आदि जैसी जगहों के नाम आएंगे। दिल्ली के यंगस्टर्स के बीच ये किले काफी फेमस है... अरे नहीं.. नहीं... अगर आपको लग रहा है कि दिल्ली के युवा प्राचीन कला और धरोहर को जानने और देखने का शौक रखते हैं, तो हो सकता है आप गलत हों... दरअसल युवा किलों में घूमने-फिरने का शौक केवल अपने ग्रुप के साथ टपरी मारने या फिर डेट मारने के लिए पसंद करते हैं। अगर आप लाल किला, पुराना किला आदि जा-जाकर बोर हो चुके हैं, तो आज हम आपके लिए लेकर आये हैं कुछ ऐसे किलों की लिस्ट जिनके बारे शायद आपने आज से पहले सुना न हो।
ये किले दिल्ली के गली-मोहल्लों के बीच बसे हुए हैं, आपको सोच रहे होंगे कि ये कोई पुरानी इमारते होंगे... लेकिन नहीं ये हैरिटेज साइट्स है, लेकिन अपने आसपास बसावट की वजह से यह उतने फेमस न हो पाये।
आइए जानते हैं कौन-से हैं वो किले-
द्वारका बावली
उग्रसेन की बावली तो आपने सुनी होगी, जोकि दिल्ली के दिल कनॉट प्लेस के पास स्थित है। लेकिन आज हम आपको द्वारका बावली के बारे में बताने जा रहे हैं, जोकि दिल्ली के द्वारका के पास स्थित है। यहां जाने के लिए आप द्वारका सेक्टर 12 मेट्रो स्टेशन उतर सकते हैं। ये बावली लोधी सल्तनत द्वारा बनाई गई थी।
आदिलाबाद किला
ये किला महरौली-बदरपुर रोड पर तुगलकाबाद किले के अपॉजिट बना हुआ है। आदिलाबाद किले को इतिहास में दिल्ली का चौथा किला माना जाता है। इससे पहले लाल किला, पुराना किला और तुगलकाबाद किला है। ये तुगलकाबाद किले के दक्षिण में आदिलाबाद नाम का ये छोटा-सा किला बनवाया गया था। इसका निर्माण जहांपनाह शहर को सुरक्षा प्रदान करने के लिए किया जाता था।
हस्तसाल
इसे कुतुब मीनार का छोटा भाई भी कहा जाता है, जोकि हूबहू कुतुब मीनार जैसा है हालांकि इसकी लम्बाई कुतुब मीनार से कम है। इसे लोग हस्तसाल की लाट के नाम से भी जानते हैं, जिसकी ऊंचाई 17 मीटर है वही कुतुब मीनार 47 मीटर ऊंचा है। इसका निर्माण शाहजहां ने अपने शिकारगाह के रूप में करवाया था। ये दिल्ली के उत्तर नगर के पास स्थित है।
YOUR REACTION
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0
  • 1

Add you Response

  • Please add your comment.