Forgot your password?

Enter the email address for your account and we'll send you a verification to reset your password.

Your email address
Your new password
Cancel
निष्काम किया गया कर्म देर से ही सही लेकिन कभी न कभी फल ज़रूर देता है। बस, इसके ले आपको थोड़ा सा धीरज रखने की ज़रूरत होती है और अपने लक्ष्य पर हमेशा नज़र रखनी होती है। लेकिन इस समय आपको इस बात का भी ध्यान रखना होता है कि आप कभी बी न तो महत्वाकांक्षा पालें और न ही दूसरों से अपनी तुलना ही करें। ऐसे में आपको आपकी मेहनत का और भाग्य का अवश्य ही मिलकर रहेगा फिर वर्तामान में आपकी स्थिति चाहे जैसी भी रही हो। जी हाँ, इस बात सबसे जीता-जागता उदाहरण आपको कविता ठाकुर के रूप में मिल सकता है।
आपको बता दें कि कविता ठाकुर हिमांचल प्रदेश के मनाली की रहने वाली हैं और भारत को एशियन गेम्स में दो-दो बार सोने का तमगा दिला चुकी हैं, लेकिन इसके बारे में ख़ुद कविता ठाकुर ने कभी सोचा था और न ही उनके लिए यह इतना आसान ही था।
ग़ौरतलब है कि कविता ने सातवीं कक्षा में दौरान स्कूल में कबड्डी खेलना शुरु किया था। लेकिन उन्होंने कबड्डी खेलने के लिए इसे खेलना नहीं शुरू किया था बल्कि कम खर्चीले खेल के कारण कविता को कबड्डी खेलना पंसद था। बहरहाल उन्होंने कबड्डी खेना शुरू किया और देखते ही देखते वह कबड्डी की ऑल राउंडर प्लेयर बन गयीं और तब उन्होंने ठान लिया कि उन्हें अब कबड्डी प्लेयर ही बनना है।
साल 2009 में आखिरकार उनकी मेहनत रंग लाई। कविता को स्पोर्ट्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया में बेहतर प्रदर्शन करने के दम पर जाने का मौका मिला। बता दें कि राज्य स्तर पर लगातार बेहतरीन प्रदर्शन करने के बाद उन्हें धर्मशाला स्थित भारतीय खेल प्राधिकरण यानी कि साई का टिकट दिया गया। इसके बाद कविता को एक प्रोफेश्नल कबड्डी प्लेयर के तौर पर ट्रेनिंग दी गई। उसके बाद फिर कविता ने कभी पीछे पलट कर नहीं देखा और अपनी म़ंज़िल की तरफ बढ़ती चली गईं।
जब कविता ने साल 2012 और 2014 की एसियन कबड्डी चैंपियनशिप जीती तो इन्हें सरकार की ओर से आर्थिक मदद मिली, जिसके चलते इन्होंने मनाली के पास अपना एक फ्लैट ख़रीदा और अपने परिवार को वहाँ लेकर रखने लगीं, तो वह इनके जीवन का सबसे भावुक क्षण था। माता-पिता के लिए घर ख़रीदने पर उन्हें सबसे ज़्यादा गर्व हुआ। यक़ीनन कविता के हौसले और मेहनत के क़िस्से देश के अनेक युवाओं को प्रेरणा देने वाले हैं।
Author: Amit Rajpoot
ऐसी रोचक और अनोखी न्यूज़ स्टोरीज़ के लिए गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड करें Lopscoop App वो भी फ़्री में और कमाएँ ढेरों कैश आसानी से!
YOUR REACTION
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0

Add you Response

  • Please add your comment.