Forgot your password?

Enter the email address for your account and we'll send you a verification to reset your password.

Your email address
Your new password
Cancel
प्यार बहती नदी की तरह है, जो जाने कब, कहाँ और किससे किस हाल में हो जाये। इस पर किसी का ज़ोर नहीं है और जो ज़ोर देकर इससे जुड़ता है या फिर प्यार होने पर इसे रोकता है वो अप्राकृतिक है और ग़लत भी। इसलिए प्रकृति के साथ रहना और प्रेम करना एक जैसा है, जिसमें आप ख़ुद को पूरा जी सकते हैं। वास्तव में प्यार कंडीशन पर डिपेन्ड करता है लेकिन यदि प्यार अनकंडीशनल है तो फिर उसके पेल होने के भरपूर चान्स होते हैं। लेकिन दशाओं के संयोग से हुये प्यार कभी असलफल नहीं होते फिर चाहे उनके बीच कभी प्रपोज़ भी न हुआ हो।
बहरहाल, प्यार रुई के फूल की तरह जिसना कोमल होता है उतना ही ये परेशान भी करता है। जी हाँ, आइए आज आपको ऐसी ही 6 चीज़ों के बारे में बताते हैं, जिसे प्यार में पड़े हरेक बंदे को झेलना ही पड़ता है, फिर चाहे तो ख़ुद को कितना भी सख़्त करे या ख़ुद को कितना भी इससे किनारे रखने की कोशिश करे। लेकिन आपका पार्टनर आपको मोहब्बत की इस उत्श्रृंखल नहीं में धकेल ही ले जाता है, जहाँ आप तैरना जानों या न जानों लेकिन तैरना ही पड़ता है। तो ये रहीं प्यार में पड़े बंदे की 6 बिग प्रॉब्लम्स।
1. नींद की हो जाती है माँ-बहनः
यदि आप किसी के प्यार में पड़ गये हैं, भले ही आप ऐसा चाह रहे हों या न चाह रहे हों लेकिन अब आपकी नींद हराम होने वाली है। जी हाँ, प्यार में नींद नहीं आती, क्योंकि आप अपने पार्टनर के बारे में चाहे अच्छा सोच रहे हों या फिर कुछ बुरा। पते की तो ये है कि जहाँ पहले आप सुकून से रात में सो जाया करते थे अब उसके बारे में कुछ न कुछ सोचने लगे हैं। यही तो प्यार है। रात को आपको देर से इसलिए सोना है क्योंकि उसकी यादें आपका पीछा नहीं छोड़तीं और सुबह उठकर जल्दी इसलिए भगना है क्योंकि जल्दी से जल्दी उसका चेहरा देखना है। ऐसे में कुछ भी हो प्यार में पड़े बंदे की नींद की माँ-बहन हो ही जाती है।
2. तराज़ू पर झूलती है ज़िन्दगीः
आपने अब तक अपनी मर्ज़ी से ख़ूब कम किया होगा, लेकिन सावधान! अब तो आप इश्क़ में हैं मियाँ और यहाँ आपकी नहीं चलने वाली है। जी हाँ, प्यार में हैं तो सही-ग़लत भूल जाइए क्योंकि अब से पार्टनर जो बोलेगी वो आपको फॉलो करना पड़ेगा। मज़े तो तब आते हैं जब किसी अमुख बात को वो पहले सही बताती हैं और फिर उसी को ग़लत। बंदा घनचक्कर हो जाये क़सम से। करे तो करे क्या, सोचे तो सोचे क्या। इतना ही नहीं, आपको अपनी लाइफ़ काफ़ी हद तक सेंशर करनी पड़ती है। वो जो करें तो उन्हें करने दो, तुमने शुरुआत की तो पाप है। कुल मिलाकर तराज़ू पर झूलती है उस बेचारे की ज़िन्दगी।
3. कुछ भी खाना पड़ सकता है भाईः
क्या आपको मोमोज़ खाना नहीं पसन्द? अच्छा तो आपको पॉप कॉर्न भी अच्छे नहीं लगते? सुना है कि आपने कभी ऑवन में गर्म किया हुआ लंच भी नहीं खाया?
थोड़े दिनों बाद...
क्या बात है। अब तो आप मोमोज़ खाते देखे जाते हो। पॉप कॉर्न भी पसन्द आने लगे है आपको बाक़ी भले ही आप बहाना बनाकर कहो कि मैं तो रास्ते में टेले वाले से ताज़े भुनाता हूँ आदि.. आदि..। बहरहाल, कुछ भी हो। प्यार में हो तो आपका सारा ज्ञान पिछवाड़े से भागेगा, क्योंकि मोहब्बत में आपको कुछ भी खाना पड़ सकता है भाई।
4. तारीफ़ ज़रा सँभलकरः
ज़रूरी नहीं कि आप किसी प्यार करने लगे हैं तो उसकी तारीफ़ भी करें, क्योंकि हर किसी को अपनी तारीफ़ अच्छी नहीं लगती है। सभी आत्ममुग्ध थोड़े न होते हैं। जी हाँ, आपको बता दें कि यदि आप किसी को प्यार करने लगे हैं और पहले उसकी तारीफ़ करते आये हैं तो अब मत करना क्योंकि यदि उसका नेचर तारीफ़ सुनने का नहीं है तो फिर वो आप पर आगबबूला हो सकती हैं। कृपया सावधान खड़े रहे, अपनी तारीफ़ काग़ज़ पर उकेरें। प्यार में इसी बहाने कवि बन सकते हैं।
5. हिटलर के होते हैं रियल दर्शनः
हिटलर के आपने महज क़िस्से सुन रखे होंगे न, कोई बात नहीं प्यार में पड़ जाइए फिर आपको समझ में आ जायेगा कि हिटलर बंदा चीज़ क्या था। आपको कैसे खड़े होना है और कितने डिग्री पर खड़े होना और अगर नहीं खड़े होना है तो फिर आपका क्या हश्र होगा वो सब समज में आयेगा। हो सकता है कि आपका सोशल इम्पैक्ट काफ़ी भारी हो, लेकिन यदि आप प्यार में हैं तो फिर बीच सड़क आपको लात-घूसे और थप्पड़ आदि कुछ भी पड़ सकते हैं, बदले में सिर्फ़ उसकी एक हँसी के। उफ़्फ़...!!! प्यार होता ही क्यूँ है रे बबा।
च्वाइस... वो क्या होती हैः
आपके पास दो ऑप्शन हैं- या तो प्यार चुन लो या फिर अपनी च्वाइस। प्यार का एकदम क्लियर फंडा है बॉस। बंदी जो बोले.. बोले तो उसकी जो च्वाइस भी है वही आपकी च्वाइस होनी चाहिए वरना एकदम क्लियर-कट है कि आप उसे प्यार नहीं करते। ऐसा मैं नहीं बोल रहा, वो ऐसा सोचेंगी घोंचू। इसलिए सूत्र याद रखना- लव इज़ इंडायरेक्टनल प्रपॉज़ टू यॉर च्वाइस। हद है, प्यार में तुम भी एक जीव हो ये बात समझने में शायद जीव विज्ञान के सारे सिद्धान्त मिटाकर फिर से लिख दिये जायें तब भी उन्हें समझ में न आये कि आपका भी स्पेस रिलेशनशिप में होता है। ख़ैर, अब ओखली में अपना सिर डाल दिया है तो मूसल की धमक तो आपको सहनी ही पड़ेगी।
इस प्रकार, यदि आप भी किसी के प्यार में पड़ गये हैं तो इन पाँचों चीज़ों को झेलने के लिए ख़ुद को तैयार कर लें।
Author: Amit Rajpoot
ऐसी रोचक और अनोखी न्यूज़ स्टोरीज़ के लिए गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड करें Lopscoop App वो भी फ़्री में और कमाएँ ढेरों कैश आसानी से!
YOUR REACTION
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0

Add you Response

  • Please add your comment.