Forgot your password?

Enter the email address for your account and we'll send you a verification to reset your password.

Your email address
Your new password
Cancel
दिल्ली समेत पूरा उत्तर भारत प्रदूषण की चपेट में है, दीवाली के बाद SMOG के कारण यहां का वातावरण और भी ज्यादा खराब हो जाता है। प्रदूषण हमारे स्वास्थ्य के लिए कितना घातक है ये बताने की शायद ही कोई जरूर होगी। प्रदूषण से हम सांस लेने संबंधी बीमारी से लेकर फेफड़ों से जुड़ी बीमारी तक के शिकार आसानी से हो जाते हैं। प्रदूषण का सबसे घातक बीमारी है लंग कैंसर यानी फेफड़ों का कैंसर... शहरों में बढ़ते प्रदूषण को देखते हुए ये कहने में जरा भी शंका महसूस नहीं होगी कि यहां कोई भी आसानी से लंग कैंसर का शिकार हो सकता है।
कहीं आप भी इस प्रदूषण और अपनी रोजमर्रा की लाइफस्टाइल की वजह से लंग कैंसर के शिकार तो नहीं? ये जानने के लिए आपको अस्पताल जाकर पहले टेस्ट कराने की जरूरत नहीं, आप कुछ अपनी उंगलियो के माध्यम से एक छोटा-सा टेस्ट करके श्योर हो सकते हैं कि आपको लंग कैंसर है या नहीं।
कैसे? और क्या है ये उंगलियों का टेस्ट?
इस टेस्ट का नाम है Schamroth window test। इस टेस्ट में आप अपनी उंगलियों से फिंगर क्लबिंग टेस्ट करके लंग कैसर के लक्षण का पता लगा सकते हैं।
इस टेस्ट के लिए आपको अपने नाखूनों के ऊपर के जोड़ को आपस में मिलाने के बाद अपने नाखून मिलाने हैं। अगर बीच में डायमंड शेप बन जाए, तो समझिये आप स्वस्थ्य हैं। लेकिन अगर शेप नहीं बन रही तो आपको टेस्ट कराने की जरूरत है।
वैज्ञानिकों का मानना है कि इस टेस्ट में 35 फीसदी मामलों में कैंसर पाया गया है।
ऐसी रोचक और अनोखी न्यूज़ स्टोरीज़ के लिए गूगल स्टोर से डाउनलोड करें Lopscoop एप, वो भी फ़्री में और कमाएं ढेरों कैश वो भी आसानी से...
YOUR REACTION
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0

Add you Response

  • Please add your comment.