Forgot your password?

Enter the email address for your account and we'll send you a verification to reset your password.

Your email address
Your new password
Cancel
देश के अगले आर्मी चीफ लेफ्टिनेंट जनरल ‘मनोज मुकुंद नरवणे’ होंगे। 31 दिसंबर को वर्तमान आर्मी चीफ ‘बिपिन रावत’ का कार्यकाल खत्म होने जा रहा है। अब उनकी जगह आर्मी चीफ के तौर पर ‘मनोज मुकुंद नरवणे’ तैनात होंगे। बिपिन रावत के बाद मनोज मुकुंद नरवणे का कार्यकाल 2 साल 4 महीने तक चलेगा। देश के अगले आर्मी चीफ के तौर पर मनोज मुकंद नरवणे के कार्यरत होने से पहले आपका उनके बारे में सब जानना भी जरूरी है। इसलिए आज हम आपको बताएंगे कौन है ‘मनोज मुकंद नरवणे’।
नरवणे महाराष्ट्र पुणे के रहने वाले हैं, जिनका जन्म 22 अप्रैल 1960 को मराठी ब्रह्मण परिवार में हुआ था।
उनके पिता मुकुंद नरवणे वायुसेना के लॉजिस्टिक ब्रांच के अधिकारी रह चुके हैं।
खुद मनोज मुकुंद नरवणे अपने करियर के 37 साल भारतीय सेना की सेवा में गुजार चुके हैं, जिसमें वह चीन, कश्मीर व पूर्वोत्तर तीनों बॉर्डर संभाल चुके हैं। सेना की तरफ से जारी बयान में कहा गया है कि उन्हें देश के सबसे चुनौतीपूर्ण क्षेत्रों में लम्बे वक्त तक काम करने का अनुभव है।
जून 1980 में 7वीं सिख लाइट इन्फैंट्री रेजिमेंट में मनोज मुकुंद नरवणे का कमीशन हुआ था।
रक्षा मामलों में उन्हें चीन मामलों का विशेषज्ञ भी माना जाता है।
जम्मू कश्मीर में आतंकवादियों के खिलाफ अपनी बटालियन की कमान को बेहतरीन रूप से संभालने की वजह उन्हें सेना पदक भी मिल चुका है।
इसके अलावा वह देश के पूर्वात्तर में वह बतौर असम राइफल्स इंस्पेक्टर जनरल भी अपनी सेवा दे चुके हैं।
दिल्ली आने से पहले वह कोलकाता के पूर्वी कमान के प्रमुख थे, जोकि भारत की चीन के साथ लगभग 4 हजार किलोमीटर की सीमा की देखभाल करती थी।
वह म्यांमार में भारतीय दूतावास में 3 साल तक के भारत रक्षा अताशे रहे हैं।
साल 2017 में वह गणतंत्र दिवस परेड के भी कमांडर रह चुके हैं।
आपको बता दें, देश का सेना प्रमुख बनने से पहले इस वक्त मनोज मुकुंद नरवणे देश के उप सेना प्रमुख हैं।
ऐसी रोचक और अनोखी न्यूज़ स्टोरीज़ के लिए गूगल स्टोर से डाउनलोड करें Lopscoop एप, वो भी फ़्री में और कमाएं ढेरों कैश वो भी आसानी से
YOUR REACTION
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0

Add you Response

  • Please add your comment.