Forgot your password?

Enter the email address for your account and we'll send you a verification to reset your password.

Your email address
Your new password
Cancel
नॉटिंघम: टीम इंडिया इंग्लैंड के खिलाफ पांच टेस्ट मैचों की सीरीज के तीसरे टेस्ट मैच में स्थिति काफी मज़बूत में है। मैच के दूसरे दिन के पहले सेशन में इंग्लैंड ने वापसी ज़रुर की थी लेकिन भारतीय गेंदबाजों ने दूसरे सत्र में पूरी इंग्लैंड टीम को आउट कर 168 रनों की बढ़त के साथ ही मैच पर पकड़ बना ली। इसके बाद इंडिया ने तीसरे सत्र में बढ़िया बल्लेबाजी करते हुए दिन का खेल खत्म होने तक दो विकेट के नुकसान पर 124 रन बना और उसकी बढ़त अब 292 रन की हो गई है।
सिरीज़ में बने रहने के लिए इंडिया का ये मैच जीतना ज़रुरी है क्योंकि पांच मैचों की सिरीज़ में वह अभी 0-2 से पिछड़ी हुई है। भारत ने पहले पारी में शुरुआत तो बहुत अच्छी की थी और एक समय उसका स्कोर 6 विकेट के नुकसान पर 307 था लेकिन बाद में सकी पारी केवल 329 रन पर सिमट गई। इंग्लैंड ने जवाब में लंच तक पहले विकेट के लिए 46 रन जोड़ लिए थे लेकिन लंच के बाद जब इंग्लैंड के विकेटों के गिरने का सिलसिला शुरू हुआ तो रुका नहीं। एक समय टीम को स्कोर 9 विकेट पर 128 हो गया था लेकिन जोस बटलर की 39 रनों की तूफानी पारी के दम पर इंग्लैंड 161 रन बनाने में कामयाब हो गई। इसमें भारत के हार्दिक पांड्या के 6 ओवर में पांच विकेट वाले स्पेल का खासा योगदान रहा।
टीम इंडिया भले ही 307 के स्कोर में केवल 22 रन ही जोड़ पाई हो, लेकिन उसका इंग्लैंड में एक खास रिकॉर्ड है। जब भी टीम इंडिया ने इंग्लैंड में पहले बल्लेबाजी करते हुए 300 से ज्यादा रन बनाए हैं, वह मैच उनसे कभी नहीं हारी है। टीम इंडिया की हार का पहली पारी में सबसे ज्यादा स्कोर 293 लीड्स में जून 1952 का था।
इस मैदान पर टीम इंडिया के मैचों की बात करें तो पिछले चार टेस्ट मैचों में टीम इंडिया ने तीन बार पहली पारी में बढ़त हासिल की है। इस साल भारत को 168 रनों की लीड मिली। साल 2014 में इंग्लैंड को 39 रनों की लीड मिली थी। साल 2011 में टीम इंडिया को 67 रनों की लीड मिली थी और 2007 में भारत को 283 रनों की बढ़त मिली थी।
अभी टीम इंडिया के पास 292 रनों की लीड है और अभी उसके 8 खिलाड़ी आउट होना बाकी हैं और तीन दिन का खेल होना बाकी है। इस मैदान पर पीछा करने का सबसे ज्यादा सफल स्कोर इंग्लैंड के नाम है जो उसने साल 2004 में न्यूजीलैंड के खिलाफ बनाया था। इंग्लैंड ने वह मैच 6 विकेट के नुकसान पर 284 रन बनाकर जीता था। इस लिहाज से देखा जाए तो टीम इंडिया की जीत निश्चित है।
पहली पारी में 150 से ज्यादा रन की बढ़त के बाद जिस तरह से दूसरी पारी में भारत का स्कोर केवल दो विकेट के नुकसान पर 124 रन बनाए। इंग्लैंड की टीम का मनोबल काफी कमजोर हो गया जो कि मैदान पर साफ दिखाई भी देने लगा है। ऐसे में विराट कोहली के बल्लेबाज 107 रन और जोड़कर इस बढ़त को 400 रन की कर दें तो विराट की इस सीरीज में वापसी आसान हो जाएगी।
ऐसी रोचक और अनोखी न्यूज़ स्टोरीज़ के लिए गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड करें Lop Scoop App, वो भी फ़्री में और कमाएं ढेरों कैश आसानी से
YOUR REACTION
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0

Add you Response

  • Please add your comment.