Forgot your password?

Enter the email address for your account and we'll send you a verification to reset your password.

Your email address
Your new password
Cancel
प्रिया प्रकाश वारियर का पहला वीडियो तो आप सबको याद ही होगा, जिसके कारण वो रातों-रात इंटरनेट सनसनी बनी थी... रोमांटिक सॉंग में प्रिया की अदा लोगों के सिर चढ़कर ऐसे बोली कि उन्होने एक ही झटके में लाखों दिलों को जीत लिया था। लेकिन उसी गाने ने प्रिया ने बड़ी मुसीबत में भी डाला था जब उस गाने को लेकर विवाद उठा और प्रिया प्रकाश के साथ ही फिल्म के डायरेक्टर ओमर लुलु के खिलाफ मुकदमा दर्ज हुआ था। वहीं अब इस मामले में प्रिया और ओमर लुलु को सुप्रीम कोर्ट से राहत मिली है।
आपको बता दे कि फिल्म 'उरु उदार लव' के 'माणिक्य मलराय पूवी' गाने को लेकर विवाद उठा था, शिकायतकर्ताओं का कहना था कि इस गाने से समुदाय विशेष के लोगों की भावना आहत हुई है। गाने के वायरल होने के साथ ही इस फिल्म के निर्देशक और एक्ट्रेस प्रिया प्रकाश के खिलाफ महाराष्ट्र और हैदराबाद में एफआईआर दर्ज किए गए थे, जिसके बाद फिल्म 'उरु उदार लव' के निर्देशक ओमर लुलु ने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया ।
वहीं अब इस मामले पर सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने ओमर लुलु के खिलाफ दर्ज मुकदमे को रद्द कर दिया है और इसके लिए उच्चतम न्यायालय ने फिल्म 'पद्मावत' और क्रिकेटर महेंद्र सिंह धोनी के खिलाफ दर्ज FIR के पुराने मामले को आधार माना है। सुप्रीम कोर्ट ने साफ तौर से कहा कि इस गाने पर सवाल उठाना बेबुनियाद है।
मामले की सुनावाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने प्रिया प्रकाश के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने पर राज्य सरकार को फटकार भी लगाई कि किसी ने फिल्म में काम किया और आपने FIR दर्ज कर दिया। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि याचिकाकर्ता (ओमर लुलु) का कहना है कि गाना अभी से नहीं बल्कि 1978 से केरल में गया जा रहा है, तो क्या उनके खिलाफ FIR दर्ज की जा सकती है, वहीं इस फिल्म की बात करें तो अभी तो ये फिल्म रिलीज भी नहीं हुई है, सिर्फ फ़िल्म के प्रमोशन के लिए गाना यूट्यूब पर डाला गया है।
YOUR REACTION
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0

Add you Response

  • Please add your comment.